कालकाजी मंदिर में हुए हादसे पर सिंगर B Praak ने जताया दुख, कहा- भूल नहीं पा रहा हूं

B Praak breaks silence on kalkaji temple stampede in delhi

दिल्ली के कालकाजी मंदिर में शनिवार रात बड़ा हादसा हो गया। इस हादसे में एक महीला की मौत हो गई है। वहीं 17 लोग बुरी तरह से घायल भी हुए हैं। घायलों को दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में पहुंचाया गया। दरअसल, मंदिर परिसर में जागरण का आयोजन हो रहा था। इसी दौरान कीर्तन वाला मंच ढह गया, जिसके बाद हर तरफ अफरा तफरी मच गई। वहीं, सिंगर बी प्राक ने मंच गिरने की घटना पर दुख व्यक्त करते हुए वीडियो शेयर किया। अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

B Praak breaks silence on kalkaji temple stampede in delhi

सिंगर ने हादसे पर जताया दुख

धार्मिक कार्यक्रम में आए बी प्राक (B Praak) ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम हैंडल पर एक वीडियो मैसेज शेयर किया है, जिसमें उनकी आंखें नम दिख रही हैं। सिंगर ने दिल्ली के कालकाजी मंदिर में हुए हादसे पर दुख जताया और कहा कि ‘मैं बहुत ही दुखी हूं कार्यक्रम के प्रबंधन को अपना काम बहुत जिम्मेदारी से करना चाहिए था। मेरे आंखों के सामने ऐसा पहली बार हुआ, जिसके कारण मैं अभी तक इस दर्दनाक मंजर को भूल नहीं पा रहा हूं’।

बता दें, ये वीडियो @AmmyBhardwaj ने शेयर किया है।

उन्होंने आगे कहा, ‘किसी कार्यक्रम का मैनेजमेंट बहुत जरूरी है। हालांकि, मैनेजमेंट ने लोगों को बहुत समझाने की कोशिश की कि पीछे हो जाइये, लेकिन यह आप सबका मां के लिए प्यार है। मेरे लिए प्यार है। पर हमें आगे से बहुत ध्यान रखना होगा। जान से बढ़कर कुछ भी नहीं है। इसलिए हमें इसका बहुत ध्यान रखना है। जब मां की इच्छा होगी मैं फिर से आऊंगा’।

स्टेज ढहने से हुए हादसा

बताया जा रहा है कि 1500 से ज्यादा लोगों की भीड़ सिंगर बी प्राक का भजन सुनने मंदिर प्रांगण में पहुंची थी। दिल्ली पुलिस ने बताया कि स्टेज लकड़ी के पटरों और लोहे के खंभों से बनाया गया था। स्टेज पर काफी संख्या में लोग चढ़ गए, जिससे यह ढह गया।


डीसीपी साउथ ईस्ट राजेश देव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रोग्राम के लिए कोई अनुमति नहीं ली गई थी। पुलिस ने आयोजकों के खिलाफ केस दर्ज किया है क्योंकि यह एक प्राइवेट फंक्शन था। इसलिए भीड़ नियंत्रण का जिम्मा आयोजकों का था। दिल्ली पुलिस का कहना है कि कानून व्यवस्था के लिए उसने पर्याप्त संख्या में पुलिस कर्मियों की तैनाती की थी।

मृत महिला की नहीं हुई पहचान

बता दें, इस हादसे में 17 लोग घायल हुए हैं, वहीं 45 वर्षीय एक महिला को दो लोग ऑटो में लेकर मैक्स अस्पताल पहुंचे थे। जहां डॉक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया। महिला की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है और घायलों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। वहीं, मामले में आयोजकों के खिलाफ आईपीसी की धारा  337/304ए/188 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।