2023-24 में Public Sector Banks का कुल मुनाफा 1.4 लाख करोड़ के पार पहुंचा Total Profit Of Public Sector Banks Crosses Rs 1.4 Lakh Crore In 2023-24

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

2023-24 में Public Sector Banks का कुल मुनाफा 1.4 लाख करोड़ के पार पहुंचा

Public Sector Banks: सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का संचयी लाभ वित्त वर्ष 2023-24 में 35 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1.4 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया। आंकड़ों के अनुसार, 12 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (PSB) ने 2022-23 में कुल 1,04,649 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया था। एक्सचेंज पर मौजूद आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2023-24 में अर्जित 1,41,203 करोड़ रुपये के कुल लाभ में से भारतीय स्टेट बैंक (SBI) का कुल मुनाफे में 40 प्रतिशत से अधिक का योगदान रहा।

  • वर्ष 2023-24 में 35% की वृद्धि के साथ 1.4 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया
  • 12 बैंकों ने 2022-23 में कुल 1,04,649 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया
  • भारतीय स्टेट बैंक का कुल मुनाफे में 40 प्रतिशत से अधिक का योगदान रहा
  • 12 बैंकों में से केवल पंजाब एंड सिंध बैंक के लाभ में गिरावट दर्ज की गई

PNB का शुद्ध लाभ 228% बढ़कर 8,245 करोड़ रहा

MONEY1 3

SBI ने पिछले वित्त वर्ष 2022-23 (50,232 करोड़ रुपये) से 22 प्रतिशत अधिक ज्यादा 61,077 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया। प्रतिशत में बात करें तो दिल्ली स्थित पंजाब नेशनल बैंक का शुद्ध लाभ सबसे अधिक 228 प्रतिशत बढ़कर 8,245 करोड़ रुपये रहा। इसके बाद यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का 62 प्रतिशत वृद्धि के साथ 13,649 करोड़ रुपये और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का 61 प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ 2,549 करोड़ रुपये मुनाफा रहा।

12 बैंकों में से पंजाब एंड सिंध बैंक के लाभ में गिरावट दर्ज

BANK1

बैंक ऑफ इंडिया ने 57 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 6,318 करोड़ रुपये, बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने 56 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 4,055 करोड़ रुपये और चेन्नई स्थित इंडिया बैंक ने 53 प्रतिशत की बढ़त के साथ 8,063 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया। गत वित्त वर्ष में सार्वजनिक क्षेत्र के 12 बैंकों में से केवल पंजाब एंड सिंध बैंक के लाभ में गिरावट दर्ज की गई। पंजाब एंड सिंध बैंक का वार्षिक शुद्ध लाभ 55 प्रतिशत की गिरावट के साथ 595 करोड़ रुपये हो गया। बैंक ऑफ बड़ौदा (17,788 करोड़ रुपये) और केनरा बैंक (14,554 करोड़ रुपये) ने 10,000 करोड़ रुपये से अधिक का वार्षिक लाभ दर्ज किया।

नोट – इस खबर में दी गयी जानकारी निवेश के लिए सलाह नहीं है। ये सिर्फ मार्किट के ट्रेंड और एक्सपर्ट्स के बारे में दी गयी जानकारी है। कृपया निवेश से पहले अपनी सूझबूझ और समझदारी का इस्तेमाल जरूर करें। इसमें प्रकाशित सामग्री की जिम्मेदारी संस्थान की नहीं है। 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।