लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

राजस्थान के इस फेमस शहर में पांडवों ने गुजारे थे अपने आखिरी साल, यह जगह भारत के भूतिया स्थानों में शामिल

भारत में घूमने-फिरने या छुट्टियां मनाने के लिए बहुत सी रहस्मयी और सुंदर जगहें हैं। राजस्थान भारत का एक ऐसा शहर है जहाँ प्रत्येक वर्ष लाखों की संख्या में लोग छुट्टियां मनाने के लिए जाते हैं। यह बाहर से जितना खूबसूरत दिखाई देता है अंदर से उतना ही रहस्मयी भी है। राजस्थान का प्रसिद्ध शहर अलवर लोगों को अपनी सुंदरता से आकर्षित करने वाला है, यह राजस्थान के सबसे पुराने शहरों में से एक है इसके अलावा यह शहर 1500 ईसा पूर्व के आसपास बना था। अलवर कोई मामूली शहर नहीं हैं यह महाभारत के पांडवों से जुड़ा हुआ है, यदि आप सोच रहे हैं की कैसे? तो हम आपको बता दें कि, अलवर में ही महाभारत के शक्तिशाली पांडवों ने अपने 13 साल के निर्वासन के आखिरी साल गुजारे थे। राजस्थान का अलवर अरावली पर्वतमाला की हरी-भरी पहाड़ियों के बीच में बसा हुआ है। यहां जानें पर आप देखेंगे कि, यहाँ कितने सारे खूबसूरत किले और महल बने हुए हैं जो दिखने में खूबसूरत होने के साथ ही कई रहस्यों से घिरे हुए हैं। इस लेख के द्वारा हम आपको अलवर के कुछ ऐसे मनमोहक और दिल खुश करने वाले स्थानों के बारे में बताएंगे जहाँ आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ हॉलिडे मनाने जा सकते हैं। यहां वे लोग भी जा सकते हैं जिन्हें इतिहास के बारे में जानने की रूचि है।

  • अलवर लोगों को अपनी सुंदरता से आकर्षित करने वाला है
  • अलवर राजस्थान के सबसे पुराने शहरों में से एक है
  • अलवर में पांडवों ने अपने 13 साल के निर्वासन के आखिरी साल गुजारे
  • अलवर अरावली पर्वतमाला की हरी-भरी पहाड़ियों के बीच में बसा हुआ है

नीमराना का किला

WhatsApp Image 2024 04 02 at 15.42.57

यदि आप शहर के शोर से दूर और अपना मूड़ फ्रेश करने के लिए घूमने का प्लान बना रहे हैं तो नीमराना किला प्रकृति के बीच रिलेक्स करने के लिए एक अच्छी जगह होगी। नीमराना किला अलवर शहर के पास रहने के लिए शानदार विरासत होटलों में से एक माना जाता है। तथ्यों के अनुसार नीमराना किला 15वीं शताब्दी में बनाया गया था यह महल पड़ोसी जंगल की मनमोहक तस्वीरें पेश करता है। लेकिन यहां आप ज्यादा दिनों तक नहीं रुक सकते यह केवल एक दिन घूमकर मूड फ्रेश करने वाली जगह है। यहाँ आप हेंगिग बगीचे, ज़िप-लाइनिंग, आयुर्वेदिक स्पा और दो आउटडोर पूल का आनंद ले सकते हैं। यहां आने के बाद आपका मन एकदम शांत हो जायेगा।

सिलीसेढ़ पैलेस

WhatsApp Image 2024 04 02 at 15.44.30

यदि आप घूमने या टूर करने के लिए किसी ऐसी जगह पर जाना चाहते हैं जहां भीड़भाड़ न हो और शांति का माहौल हो तो आपको सिलीसेढ़ पैलेस की यात्रा करनी चाहिए। सिलीसेढ़ पैलेस राजस्थान के उन मनमोहक स्थानों में से एक है जहाँ आप शहरी जीवन से बिल्कुल दूर जाकर अपने दिमाग को शांत कर सकते हैं यहां बिल्कुल भी भीड़ नहीं रहती है। यहां 19वीं शताब्दी में एक आकषर्क झील बनाई गई थी जो शहर की सबसे कृत्रिम झीलों में से एक बताई जाती है। सिलीसेढ़ पैलेस में बनी यह झील एक बहुत अच्छा पिकनिक स्थल माना जाता है यहाँ पर आप बोटिंग और फिशिंग जैसी कई तरह की एक्टिविटी कर सकते हैं।

भानगढ़ का किला

WhatsApp Image 2024 04 02 at 15.56.47

अलवर में मौजूद भानगढ़ का किला बहुत फेमस जगहों में से एक है। यदि आप ऐसी जगहों पर जाने के शौकीन हैं जो भूतिया होने के लिए जानी जाती है तब आपको यहाँ जरूर जाना चाहिए। यह जगह रोमांचक होने के साथ-साथ ऐतहासिक भी है। भानगढ़ का किला सरिस्का टाइगर रिजर्व के किनारे पर बना हुआ है। भानगढ़ किला भारत में टॉप हॉन्टेड जगहों में माना जाता है। यह भूतिया किला अपने कई भूतिया किस्सों की वजह से जाना जाता है। इसके ढेरों किस्से इंटरनेट पर मौजूद हैं जिन्हें जानकर लोग दिन में भी यहां अंदर जाने से डरते हैं। इस भूतिया किले पर ASI ने भी रात के समय जाने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। यहां रात में जाने फाइन और सजा हो सकती है। आप दिन में इस किले में घूमकर आ सकते हैं। यह अपने इतिहास के लिए भी जाना जाता है।

केसरोली हिल

WhatsApp Image 2024 04 02 at 15.58.36

बहुत प्रसिद्ध केसरोली हिल अलवर से सटकर प्रसिद्ध विरासत होटलों में से एक है यह बहुत ही आकर्षक और सुन्दर है। यहां आप राजस्थानी वातावरण का आनंद ले सकते हैं। यह जगह आपको पूरी तरह राजस्थान का अहसास कराएगी। यहां घूमने जाना एक अच्छा आईडिया होगा। जाने-माने इस होटल में एक बड़ा स्विमिंग पूल, शांत वातावरण और एक बहुत बड़ा व खूबसूरत बगीचा है। जहां आपको एकदम राजशाही जैसा अहसास होगा। बगीचे से आप सुंदर सनसेट को देख सकते हैं जिससे आपको प्यार ही हो जायेगा। आप यहां समर वेकेशन और वीकेंड पर आ सकते हैं और लुफ्त उठा सकते हैं। यहां के कमरों से लेकर बगीचे तक सब कुछ बहुत आकर्षक है।

नीलकंठ महादेव मंदिर

WhatsApp Image 2024 04 02 at 15.59.45

अलवर में सरिस्का टाइगर रिजर्व के भीतर मौजूद नीलकंठ महादेव मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। यह बहुत ही प्राचीन मंदिर है इसका निर्माण 10वीं शताब्दी में हुआ था। यहाँ भगवान शिव, विष्णु और ब्रह्मा देवताओं की पूजा की जाती है। टाइगर रिज़र्व में जो मंदिर बनाये गए हैं उनका एक गुट बना है जिनमें नीलकंठ महादेव मंदिर लोगों के बीच में काफी लोकप्रिय बना हुआ है। यह आस्था का एक केंद्र बना चुका है। यदि आप मंदिर घूमने का प्लान बनाते हैं तो इस मंदिर के दर्शन करने जा सकते हैं। न सिर्फ पूजा के लिए बल्कि आप इस मंदिर की खूबसूरती भी निहारते रह जायेंगे। इसमें उत्कृष्ट पत्थर की नक्काशी की गई है साथ ही इसके आस-पास बहुत सारी हरियाली छाई हुई है।

सरिस्का वन्यजीव अभ्यारण्य

WhatsApp Image 2024 04 02 at 16.02.21

यदि अलवर में सबसे अच्छी जगहों पर घूमने की बात की जाये तो सरिस्का वन्यजीव अभयारण्य को इसमें शामिल किया जा सकता है। इसे सरिस्का टाइगर रिजर्व भी बोला जाता है। यह जगह अरावली पहाड़ियों की गोद में 850 वर्ग किलोमीटर तक फैली हुई है। इस जगह को वर्ष 1982 में भारत का राष्ट्रीय उद्यान भी बनाया जा चुका है। इस फेमस राष्ट्रीय उद्यान में कई तरह के वन्यजीव देखे जा सकते हैं, इसके अलावा यहां विशेष रूप से रॉयल बंगाल टाइगर, चार सींग वाले मृग, भारतीय तेंदुए और दुर्लभ भारतीय ईगल उल्लू देखने को मिलते हैं। यहां मौजूद नीलकंठ मंदिर बहुत ही आकर्षक है।

बाला किला

WhatsApp Image 2024 04 02 at 16.03.41

अलवर में स्तिथ बाला किला एक बहुत ही फेमस जगह है। आपको बता दें कि बाला किला को अलवर किला के नाम से भी जाना जाता है। इस किले को घूमने के लिए देश -विदेश से लोग आते हैं। अलवर का यह किला रेलवे स्टेशन से 10 किलोमीटर की दूरी पर बना हुआ है। यदि इसके इतिहास के बारे में बात करें तो, यह 1550 ईस्वी में हसन खान मेवावती ने बनवाया था। आपको बता दें कि इस किले को शहर की सबसे पुरानी ईमारत माना जाता है। इस किले की लम्बाई 5 किमी और चौड़ाई 1.5 किमी है जिस वजह से इसे पार करने में 2 घंटे से भी ज्यादा का समय लग जाता है। इसके अलावा इस किले में 51 छोटे और 15 बड़े टावर बनाये गए हैं और 6 नक्काशीदार दरवाजे भी बने हैं। इन दरवाजों को जय पोल, चांद पोल, सूरज पोल, कृष्ण पोल, लक्ष्मण पोल और अंधेरी गेट नाम दिया गया है। साथ ही इस सुन्दर किले में 15 मंदिर, 446 मस्कट्री द्वार, जलाशय और कई आकर्षक महल बने हुए हैं जो इसमें चार चाँद लगाते हैं। इस किले की ट्रिप आपको बहुत अच्छी और सुंदर यादें देगी। यदि आप राजस्थान की ट्रिप प्लान कर रहे हैं तो अलवर का यह किला एक बार जरूर देख कर आएं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।