MP के हरदा की पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट : 12 की मौत, 150 से ज्यादा घायल, फैक्ट्री मालिक समेत तीन गिरफ्तार - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

MP के हरदा की पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट : 12 की मौत, 150 से ज्यादा घायल, फैक्ट्री मालिक समेत तीन गिरफ्तार

मध्य प्रदेश के हरदा में पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट के बाद पुलिस लगातार आरोपियों की तलाश में जुटी थी। पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें बताया जा रहा है कि फैक्ट्री के दोनों मालिक भी शामिल हैं। एक आरोपी राजेश अग्रवाल के बारे में बताया जा रहा है कि वह दिल्ली भागने की फिराक में था, जब उसे अरेस्ट कर लिया गया।
विस्फोट में मरने वालों की संख्या 12 , डेढ सौ से ज्यादा लोग घायल
इससे पहले मध्य प्रदेश के हरदा जिले में संचालित एक अवैध पटाखा फैक्ट्री में हुए कई विस्फोटों के बाद लगी भीषण आग में मरने वालों की संख्या 12 हो गई है और डेढ सौ से ज्यादा लोग घायल हैं। कई घायलों को विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया है। रात होने के बावजूद राहत और बचाव कार्य जारी है।
अवैध तरीके से चल रही थी पटाखा फैक्ट्री
हरदा के बैरागढ़ इलाके में मगरधा रोड के करीब एक आवासीय बस्ती है और यहां एक अवैध पटाखा फैक्ट्री चल रही थी। इस फैक्ट्री में मंगलवार की सुबह विस्फोटों के साथ आग लग गई। आसमान पर आग और धुएं के गुबार नजर आए। आग ने विकराल रुप ले लिया और उसने कई मकानों को भी अपनी चपेट में ले लिया। जिस इमारत में यह पटाखे बनाने का काम चल रहा था, वह और उसके आसपास की कई इमारतें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गईं।
घायलों का भोपाल के अस्पताल में उपचार जारी
जानकारी के मुताबिक, मरने वालों की संख्या बढ़कर 12 हो गई है। घायलों की संख्या 167 है। इनमें से 142 मरीजों का जिला अस्पताल व 25 का भोपाल के अस्पताल में उपचार जारी है। आग पर काबू पाने के लिए आसपास के क्षेत्र से फायर ब्रिगेड की गाड़ियां बुलाई गई है। पूरे दिन राहत और बचाव कार्य चला और अंधेरा होने पर रोशनी का इंतजाम किया। देर रात तक राहत और बचाव कार्य अपनी गति से जारी था। एक दर्जन से ज्यादा जेसीबी मशीन और फायर बिग्रेड की गाड़ियां लगी हुई थीं। पूरा इलाका मलबे में तब्दील हो गया है। मलबे को हटाने का काम चल रहा है, मगर बीच-बीच में धुआं और आग नजर आ जाती है तो वहीं पटाखों की गूॅज भी सुनाई दे जाती है।
पटाखा फैक्ट्री में आग लगने का अत्यंत दुखद समाचार – सीएम डाॅॅ. मोहन यादव
राज्य के मुख्यमंत्री डाॅॅ. मोहन यादव ने इस हादसे को लेकर एक्स पर लिखा है, हरदा में पटाखा फैक्ट्री में आग लगने का अत्यंत दुखद समाचार प्राप्त हुआ। मंत्री उदय प्रताप सिंह और वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच रहे हैं।
घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर की जाएगी सख्त कार्रवाई – सीएम
उन्होंने इस हादसे में झुलसे और घायलों को बेहतर उपचार मुहैया कराने को लेकर भोपाल तथा इंदौर में मेडिकल कॉलेज और एम्स भोपाल में बर्न यूनिट को आवश्यक तैयारी करने को कहा है। साथ ही इंदौर व भोपाल से फायर ब्रिगेड की दमकलों को भी भेजा जा रहा है। मुख्यमंत्री देर शाम को हमीदिया अस्पताल पहुंचे और हरदा से आए घायलों का हाल जाना। साथ ही, इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्रवाई का भरोसा दिलाया।
कई लोग सड़क पर अचेत अवस्था में आए नजर
इस फैक्ट्री में पटाखों में विस्फोट और आग के विकराल रुप लेने के बाद आसपास के कई मकान भी इस आग की चपेट में आ गए। इतना ही नहीं, फैक्ट्री के आसपास के इलाके में मकान से उछले ईंट-पत्थर ने सड़कों से गुजरते लोगों को भी अपनी चपेट में ले लिया, जिस कारण वे सड़क पर गिर गए। कई लोग सड़क पर अचेत अवस्था में भी नजर आए।
कमल पटेल ने इस हादसे को बताया दुखद
राज्य सरकार के पूर्व मंत्री कमल पटेल ने भी इस हादसे को दुखद बताया है, उनका कहना है कि आग भीषण है और उस पर काबू पाने के लिए आसपास के क्षेत्र से फायर ब्रिगेड की गाड़ियां बुलाई गई हैं। इस फैक्ट्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, ब्लैक लिस्‍टेड कर दिया गया था। उसके बाद कैसे चल रही थी, यह जांच के बाद ही पता चलेगा।
धमाके से दहल गए आस-पास के इलाके
स्थानीय लोगों का कहना है कि एक के बाद एक कई धमाके सुनाई दिए और आग का गुबार नजर आने लगा। इसके साथ ही पटाखा फैक्ट्री के आसपास के मकानों को भी अपनी चपेट में ले लिया। यह धमाके इतने तेज थे कि आसपास का इलाका भी दहल गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two − 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।