AB Devilliers ने साउथ अफ्ऱीका – भारत के बीच टेस्ट सीरीज में कम मैचों को लेकर किसे ठहराया जिम्मेदार ?

AB Devilliers इस बात से काफी नाराज हैं की भारत – साउथ अफ्ऱीका के बीच हाल ही में समाप्त टेस्ट सीरीज में केवल दो मैच थे, उन्होंने कहा इसका जिम्मेदार दुनीया भर मे चल रही टी-20 क्रिकेट है ।

HIGHLIGHTS

  • AB Devilliers ने अपने यूट्यूब चैनल पर  दिया बयान
  • AB Devilliers :मैं इससे खुश नहीं हूं कि श्रृंखला में तीसरा टेस्ट नहीं था
  • आखीर क्यों इस टीम की अगुआई अनकैप्ड खिलाड़ी को करना पड़ाAB de Villiers e1704703202573

डिविलियर्स ने बड़ी सीरीज के सुझाव देते हुए कहा कि अगर दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम का पता करना है तो बदलाव करने की जरूरत है।
भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेली गयी टेस्ट सीरीज 1-1 से बराबरी पर समाप्त हूई, जिसमें मेजबान टीम ने सेंचुरियन में शुरुआती टेस्ट पारी और 32 रन से जीत हासील की, जबकि मेहमान टीम ने केप टाउन में सात विकेट से दूसरा टेस्ट मैच जीता।

AB Devilliers ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि मैं इससे खुश नहीं हूं कि श्रृंखला में तीसरा टेस्ट नहीं था। आपको इसके लिए टी20 क्रिकेट को जिम्मेदार ठहराना होगा जो दुनिया भर में खेली जा रही हैं।उन्होंने कहा, मैं नहीं जानता कि इस बात के लिए किसे जिम्मेदार ठहराया जाए पर कुछ तो गलत हो रहा है। अगर आप सभी टीमों के बीच बराबरी का टक्कर देखना चाहते हो और दुनिया में कौन सर्वश्रेष्ठ टीम है, यह देखना चाहते तो हमें बदलाव करने की जरूरत है।दक्षिण अफ्रीका फरवरी में न्युजीलैंड दौरा पर दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने उतरेगी।
-इस सीरीज मे भी साउथ अफ्ऱीका मात्र 2 मैचों की सीरीज खेलने उतर रही है। हैरान करने वाली बात ये है की क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका ने इस सीरीज के लिए दूसरे दर्जे की टीम की घोषणा की तो सभी काफी हैरान हो गये क्योंकी इस टीम की अगुआई अनकैप्ड खिलाड़ी (जिसने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला हो) नील ब्रांड करेंगे।

आखीर क्यों इस टीम की अगुआई अनकैप्ड खिलाड़ी को करना पड़ा ?
दरअसल न्युजीलैंड दौरे की तारीखें दक्षिण अफ्रीका टी20 लीग के दूसरे चरण के साथ पड़ रही हैं जो 10 जनवरी से 10 फरवरी के बीच खेली जायेगी जिसमें दक्षिण अफ्रीका के ज्यादातर खिलाड़ी खेल रहे हैं, जिसके कारण अनकैप्ड खिलाड़ी नील ब्रांड को कप्तानी की जिम्मेदारी सौंपी गयी। ap22005514734704 1 1641394758

AB Devilliers का मानना है कि टेस्ट क्रिकेट दबाव में है और उन्हें स्वीकार किया कि खिलाड़ी और कोच उन्हीं टूर्नामेंट को चुनेंगे जिसमें अच्छी धनराशि मिल रही है।उन्होंने कहा, इससे दुनिया भर के क्रिकेट में हलचल मचा दी है और स्पष्ट कर दिया है कि टेस्ट क्रिकेट दबाव में है और यहां तक कि वनडे क्रिकेट भी क्योंकि पूरी प्रणाली ही टी20 क्रिकेट की ओर झुक रही है।डिविलयर्स ने कहा, खिलाड़ी, बोर्ड और कोच उसी ओर झुकेंगे जहां ज्यादा धनराशि होगी। आप उन्हें दोषी नहीं ठहरा सकते क्योंकि वे अपने परिवार के साथ भविष्य के बारे में सोच रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।