बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहें किसान, सरकार ने पूरे नहीं किए वादे, सस्ते में लूटी जा रही फसल : राकेश टिकैत

भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि किसान बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहे, सरकार ने किसान आंदोलन के दौरान जो वादे किए वे वादे सरकार पूरे नहीं कर रही है।

भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि किसान बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहे, सरकार ने किसान आंदोलन के दौरान जो वादे किए वे वादे सरकार पूरे नहीं कर रही है। उन्होंने कहा, सरकार की गलत नीतियों के चलते देश गरीबी और मजदूरों की बड़ी कालोनी बनता जा रहा है। इसके अलावा उन्होंने यूपी में दंगाइयों पर हो रही बुलडोजर कार्रवाई को लेकर कहा, एक पक्षीय नहीं होनी चाहिए, सरकार विचार करे कि दंगे के हालात क्यों पैदा हुए?
सरकार ने पूरे नहीं किए कई वादे
राकेश टिकैत ने कहा कि चुनाव से पूर्व सरकार ने किसानों से अनेक वादे किए थे, लेकिन उन्हें पूरा नहीं किया जा रहा है। किसानों को समय से गन्ना भुगतान नहीं हो रहा। मुफ्त बिजली दिए जाने का वायदा हवा-हवाई साबित हो रहा। बिजली समस्या विकराल रूप धारण ले कर रही है। किसानों के नलकूपों पर मीटर लगाए जा रहे हैं, जिसका भारतीय किसान यूनियन विरोध करेगी। इन मुद्दों को लेकर 16 से 18 जून को हरिद्वार में किसान पंचायत होगी, जिसमें देश के सभी राज्यों से किसान नेता आएंगे।

1655350291 farmer

सस्ते में लूटी जा रही हैं किसानों की फसल
टिकैत ने कहा कि, बिजली की समस्या पर भाकियू मेरठ में 27 जून को पावर कारपोरेशन के एमडी कार्यालय पर पंचायत करेगी। उन्होंने कहा कि, किसानों की फसल सस्ते में लूटी जा रही हैं, एमएसपी बढ़ाने का सरकार का मैकेनिज्म ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि आठ साल में देश में 16 करोड़ युवा बेरोजगार हो चुके हैं। मानीनय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि प्रतिवर्ष देश में दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे, लेकिन रोजगार नहीं मिल रहा है। आरोप लगाया कि देश में केवल वोट के लिए काम हो रहा है।
कुछ जगहों पर बुलडोजर भेदभाव से चल रहा है
किसान नेता ने कहा कि कुछ जगहों पर बुलडोजर भेदभाव से चल रहा है। सरकार को विकास का माडल तैयार करना चाहिए और शिक्षा पर काम हो। उन्होंने कहा कि, देश के हालात अजीब बनते जा रहे हैं। देश आने वाले समय में मजदूर और गरीबो कालोनी बन जाएगा। जहां बड़ी-बड़ी कंपनियां देश में आएंगी। वहीं खेती करेंगी और फैक्ट्री लगाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − fourteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।