राष्ट्रीय हथकरघा दिवस पर बोले शाह- भारत का हथकरघा क्षेत्र समृद्ध और विविध सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को राष्ट्रीय हथकरघा दिवस पर बधाई देते हुए देशवासियों से देश की हथकरघा विरासत को प्रोत्साहित करने और बुनकरों, खासकर महिलाओं को सशक्त बनाने का आग्रह किया।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को राष्ट्रीय हथकरघा दिवस पर बधाई देते हुए देशवासियों से देश की हथकरघा विरासत को प्रोत्साहित करने और बुनकरों, खासकर महिलाओं को सशक्त बनाने का आग्रह किया।
राष्ट्रीय हथकरघा दिवस पर बोले अमित शाह
शाह ने कहा कि भारत का हथकरघा क्षेत्र समृद्ध और विविध सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसी दिन 1905 में शुरू हुए स्वदेशी आंदोलन की याद में और प्राचीन भारतीय कला को पुनर्जीवित करने के लिए 2015 से सात अगस्त को राष्ट्रीय हथकरघा दिवस के रूप मनाए जाने की घोषणा की थी।
1659864935 nnnnn
हथकरघा विरासत को संरक्षित करने- शाह
शाह ने कहा, ‘‘इसका उद्देश्य देशवासियों को स्वदेशी बुनकरों द्वारा बुने गए हथकरघा उत्पादों का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना भी है। आइए, आठवें राष्ट्रीय हथकरघा दिवस पर, हम अपनी हथकरघा विरासत को संरक्षित करने और इसे बढ़ावा देने के मोदी सरकार के संकल्प को आगे बढ़ाने के लिए हाथ मिलाएं तथा अपने हथकरघा बुनकरों, विशेष रूप से महिलाओं को सशक्त बनाएं।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।