बिहार : गोपालगंज और पश्चिमी चंपारण में जहरीली शराब पीने से 25 लोगों की मौत

जहरीली शराब पीने से चंपारण के गांव बेतिया में 8 लोगों की मौत हो गई। जबकि गोपालगंज में 16 लोगों की मौत हुई है।

बिहार के गोपालगंज और पश्चिमी चंपारण में जहरीली शराब पीने से होने वाली मौतों का सिलसिला जारी है। गुरुवार को चंपारण के गांव बेतिया में 8 लोगों की मौत हो गई। जबकि गोपालगंज में 16 लोगों की मौत हुई है। राज्य में दो दिन के अंदर जहरीली शराब ने 25 लोगों की जाने ले ली। 
पश्चिम चंपारण के नौतन प्रखंड के बेलवा गांव में दीपावली की पूर्व रात्रि एक दर्जन लोगों की मौत हो गई है। इन मौतों को लेकर प्रशासन की ओर से कोई पूछती नहीं की गई है। ग्रामीणों के अनुसार सभी लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है। मृतकों में हनुमत सिंह, महराज यादव, बच्चा यादव, मुकेश पासवान, जवाहिर सहनी, रमेश सहनी एवं उमा साह शामिल है।
वहीं गोपालगंज में हुई मौतों पर पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार का कहना है कि पिछले दो दिनों में जिले के मुहम्मदपुर गांव में कुछ लोगों की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई है। जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आ जाती, मौत के कारणों की पुष्टि नहीं की जा सकती। फिलहाल तीन टीमें इस मामले की जांच कर रही हैं। गुरुवार को छह लोगों की मौत के बाद जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या आठ हो गई। 

बिहार : गोपालगंज में जहरीली शराब कांड में मरने वालों की संख्या 8 तक पहुंची

डॉक्टरों ने मामले में बीमार लोगों के स्प्रिट पीन की पुष्टि कर दी है, लेकिन पुलिस-प्रशासन फिलहाल जहरीली शराब से मौत की पुष्टि नहीं कर रहा। वहीं पश्चिमी चंपारण के पुलिस अधीक्षक उपेंद्र नाथ वर्मा का कहना है कि इस मामले पर जांच चल रही है। जानकारी के मुताबिक, इस साल जनवरी से 31 अक्टूबर तक, नकली शराब पीने से नवादा, पश्चिमी चंपारण, मुज़फ्परपुर, सीवान और रोहतास जिलों में अब तक करीब 70 अपनी जान गवा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three + 20 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।