बिहार: गया में नाराज छात्रों ने ट्रेन की बोगी में लगाई आग, श्रमजीवी एक्सप्रेस पर किया पथराव

बिहार में रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (एनटीपीसी) परीक्षा परिणाम में कथित धांधली के विरोध में आज तीसरे दिन भी अभ्यर्थियों का विरोध प्रदर्शन जारी है।

देश आज 73वां गणतंत्र दिवस मना रहा है, तो वहीं, दूसरी तरफ, बिहार में रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (एनटीपीसी) परीक्षा परिणाम में कथित धांधली के विरोध में आज तीसरे दिन भी अभ्यर्थियों का विरोध प्रदर्शन जारी है। डीडीयू रेल मंडल के गया जंक्शन पर बुधवार को गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए अभ्यर्थियों ने जमकर बवाल काटा। इस दौरान छात्रों ने गया जंक्शन के करीमगंज यार्ड में खड़ी एमटी कोच में आग लगा दी। आग की चपेट में आने से एक कोच जलकर राख हो गया। 
गुस्सैल उम्मीदवारों ने रेल ट्रैक जाम कर दिया 
आक्रोशित अभ्यर्थियों ने रेल ट्रैक जाम कर दिया। आंदोलन ने उग्र रूप धारण कर लिया है। अभ्यर्थियों के उग्र स्वरूप को देखते हुए आरपीएफ, जीआरपी और जिला पुलिस के अधिकारियों के नेतृत्व में जवान मुस्तैद हैं। कोच में लगी आग पर किसी प्रकार काबू पा लिया गया। अन्य दूसरे कोच आग की चपेट में आने से बच गए। जिला प्रशासन के अधिकारी आंदोलनकारियों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं।  

स्टेशन के चारों ओर कड़ी सुरक्षा 
करीब तीन से चार सौ की संख्या में आंदोलनकारी रेलवे ट्रैक पर आए हुए हैं। कुछ आंदोलनकारी स्टेशन के आसपास के क्षेत्रों में भी जमे हुए हैं। हालांकि अभी तक आंदोलनकारी स्टेशन प्लेटफार्म पर नहीं पहुंच पाए हैं। स्टेशन परिसर के चारों ओर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। आंदोलन के कारण ट्रेनों का परिचालन भी प्रभावित है। इसके अलावा श्रमजीवी एक्सप्रेस पर पथराव किए जाने की भी खबर है। 

गणतंत्र दिवस 2022: अग्रिम मोर्चे के कर्मी, मजदूर और ऑटो ड्राइवर बने स्पेशल गेस्ट, मिला बड़ा सम्मान

एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘सीबीटी 2 परीक्षा की तारीख अधिसूचित नहीं की गई थी। 2019 में अधिसूचित रेलवे परीक्षा को लेकर कोई अपडेट नहीं था। इसके परिणाम अभी भी प्रतीक्षित है। हमारी मांग है कि सीबीटी 2 परीक्षा रद्द की जाए और परीक्षा परिणाम को जारी ना किया जाए।’ 
गया के एसएसपी बोले- स्थिति अब नियंत्रण में है 
छात्रों के उग्र प्रदर्शन को लेकर गया के एसएसपी आदित्य कुमार ने कहा, ‘स्थिति अब नियंत्रण में है। उन्होंने (कोच/ट्रेन) में आग लगा दी, हमने उनमें से कुछ प्रदर्शनकारियों की पहचान कर ली है। हम छात्रों को बताना चाहते हैं कि वे किसी के प्रभाव में न आएं और सरकारी संपत्ति को नुकसान न पहुंचाएं। सरकार ने मामले की जांच के लिए एक कमेटी का गठन किया है।’ 
रेल रोकने स्टेशन पहुंचे छात्र, मनाने में जुटा प्रशासन  
आरआरबी एनटीपीसी रिजल्ट में संशोधन की मांग को लेकर विभिन्न छात्र संगठनों ने सासाराम रेलवे स्टेशन पर बुधवार को विरोध प्रदर्शन किया। रेल मंत्री मुर्दाबाद, छात्रों की हकमारी बंद करो, रिजल्ट को रद्द करो आदि नारे लगा रहे थे। प्रदर्शन की जानकारी मिलते ही तुरंत प्रशासन भी दल बल के साथ रेलवे स्टेशन जा पहुंचा। लेकिन, छात्र रिजल्ट में संशोधन की मांग को लेकर रेलवे स्टेशन पर डटे रहे।  
प्रदर्शनकारी छात्र रेलवे स्टेशन की सीढ़ी पर जमे हुए हैं 
रेलवे के अधिकारियों के अलावा एसडीओ मनोज कुमार छात्रों को मनाने में लगी थे। लेकिन, छात्र आरआरबी एनटीपीसी रिजल्ट रद्द होने तक आंदोलन को जारी रखने की बात करते हुए प्रशासन की बात सुनने को तैयार नहीं थे। प्रदर्शनकारी छात्र विभिन्न इलाकों से रेलवे स्टेशन पर पहुंच रहे थे। वही, प्रदर्शन को कंट्रोल करने के लिए पुलिस बल की भी भारी मौजूदगी स्टेशन पर देखी गई। प्रदर्शनकारी छात्र रेलवे स्टेशन के सीढ़ी पर जमे हुए हैं। 
बीते दिन भी हुआ था बवाल 
इससे पहले मंगलवार को छात्रों ने पटना, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, आरा, बक्सर में जमकर बवाल काटा था। सीतामढ़ी में तोड़फोड़ और पथराव कर रही उग्र भीड़ को पुलिस ने हवाई फायरिंग के जरिए तितर-बितर किया था। भारी प्रदर्शन को देखते हुए रेलवे ने बुधवार को परीक्षाएं स्थगित करने की घोषणा की लेकिन इसके बावजूद भी छात्रों का गुस्सा थमता नहीं दिख रहा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 5 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।