बिहार: जहरीली शराब से मौतों पर नीतीश ने कहा- गलत चीज पीने से ऐसा ही होगा, छठ पर्व के बाद करेंगे समीक्षा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि छठ पर्व गुजर जाने दीजिए फिर से शराबबंदी को लेकर समीक्षा की जाएगी। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि हमलोग बाार-बार कह रहे है कि गलत चीजें ग्रहण कीजिएगा तो ऐसी नौबत आएगी।

बिहार में शराब पर पाबंदी के बावजूद वहां के लोग शराब पी रहे है और जहरीली शराब पीने से लोगों की हो रही मौत की खबरों के बाद सरकार भी अब चिंतित है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि छठ पर्व गुजर जाने दीजिए फिर से शराबबंदी को लेकर समीक्षा की जाएगी। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि हमलोग बाार-बार कह रहे है कि गलत चीजें ग्रहण कीजिएगा तो ऐसी नौबत आएगी।
लेकिन फिर भी कोई इलाके में ऐसा काम हो रहा है, यह दुखद बात है
पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, प्रतिदिन चारों ओर लोग पकडे जा रहे हैं, छापेमारी हो रही है, सबकुछ हो रहा है, लेकिन फिर भी कोई इलाके में ऐसा काम हो रहा है, कोई कर रहा है तो यह दुखद बात है। छठ पर्व के बाद मैं खुद शराबबंदी को लेकर विस्तृत समीक्षा करने वाला हूं।
उन्होंने कहा कि हमलोग बार-बार कह रहे हैं कि गलत चीजों का ग्रहण कीजिएगा तो ऐसी नौबत आएगी। उन्होंने कहा कि फिर एक बार कम्पेन प्रारंभ करना जरूरी है। लोगों को यह बताना जरूरी है कि शराब गलत चीज है। शराबबंदी लागू है, इस तरह कीजिएगा तो कार्रवाई होती है और आगे भी होगी।
छठ पर्व के बाद फिर से एकबार समीक्षा करेंगे
उन्होंने कहा कि किस तरह शराब बना कर कितने गलत तरीके से लोग काम कर रहे हैं कि लोग चले जा रहे हैे। इस कारण फिर से एक जबरदस्त अभियान की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमने मन बना लिया है कि छठ पर्व के बाद फिर से एकबार समीक्षा करेंगे।
उल्लेखनीय है कि बिहार के गोपालगंज और पश्चिम चंपारण जिले में पिछले तीन दिनों में कथित रूप से जहरीली शराब पीने से कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई है। अभी भी कई लोग बीमार बताए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि बिहार में शराबबंदी है और किसी भी तरह की शराब बिक्री और सेवन पर प्रतिबंध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − nine =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।