बिहार: गोपालगंज में शराब से हुई मौत मामले की जांच करने पहुंची राजद की टीम

बिहार में एक बार फिर से जहरीली शराब को लेकर मामला गरमाता दिख रहा है. मामला गोपालगंज जिले से जुड़ा है जहां तथाकथित रूप से शराब पीने से तीन लोगों की मौत हुई है।

बिहार में एक बार फिर से जहरीली शराब को लेकर मामला गरमाता दिख रहा है. मामला गोपालगंज जिले से जुड़ा है जहां तथाकथित रूप से शराब पीने से तीन लोगों की मौत हुई है। जिले के महम्मदपुर थाना क्षेत्र में कथित तौर पर जहरीली शराब से हुई लोगों की मौत के बाद गुरुवार को राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की पांच सदस्यीय टीम प्रभावित गांव पहुंची।
टीम के नेताओं ने गांव पहुंचकर लोगों से बात की और पूरे मामले की जांच की। राजद की पांच सदस्यीय जांच टीम ने महम्मदपुर गांव में पीड़ितों से मिलकर पूरे मामले की जानकारी ली। पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम के नेतृत्व में पहुंची जांच टीम में हथुआ विधायक राजेश कुशवाहा, पूर्व विधायक रेयाजूल हक राजू और स्थानीय विधायक प्रेम शंकर यादव, प्रदेश महासचिव प्रमोद कुमार राम शामिल रहे।
मृतकों के परिजनों से मिलने के बाद राजद की जांच टीम अपनी रिपोर्ट तैयार करेगी और फिर उसे पार्टी के प्रमुख को सौंपेगी। राजद की टीम ने मृतक के परिजनों को 11-11 हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी दी। इस मौके पर पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। पूर्व मंत्री ने कहा यदि दूसरे प्रदेशों से शराब आ रही है तो कहां से आ रही है, कौन यहां तक पहुंचा रहा है, इसकी जानकारी प्रशासन को होनी चाहिए थी।
उन्होंने कहा कि जहरीली शराब से जिन लोगों की मौत हुई है, उन्हें सरकार मुआवजा और सरकारी नौकरी दें। उन्होंने शराबबंदी के नियम और कानून पर फिर से समीक्षा करने की मांग करते हुए कहा कि मृतक के परिजनों को सरकार 20-20 लाख रुपये और सरकारी नौकरी दे।
राम ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शराबबंदी पर 16 नवंबर को समीक्षा करने वाले हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि समीक्षा के बाद सरकार क्या यह दावा कर सकेगी कि अब शराब पीने से मौत नहीं होगी।उल्लेखनीय है कि बिहार के गोपालगंज के महम्मदपुर क्षेत्र में पिछले दिनों कथित तौर शराब से 13 लोगों को मौत हो गई है। अपुष्ट खबरों के मुताबिक मरने वालों की संख्या 25 से अधिक बताई जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।