बजट पर कुशवाहा के सवालों का BJP के पार्षद देंगे जवाब : संजय जायसवाल

संजय जायसवाल ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा जिस कद के नेता हैं उनके सवालों का जवाब बीजेपी अध्यक्ष नहीं बल्कि उनके कद के बीजेपी नेता ही देंगे। कुशवाहा वर्तमान में जदयू संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किए गए चौथे बजट 2022 पर पक्ष और विपक्ष की प्रतिक्रिया सामने आ रही है। वहीं बिहार में सत्ताधारी एनडीए गठबंधनऔर जनता दल यूनाइटेड बंटी हुई नजर आ रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बजट को ‘स्वागतयोग्य’ बताया है, वहीं जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने इसे ‘निराशाजनक बजट’ बताया। कुशवाहा की इस प्रतिक्रिया पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष एवं सांसद संजय जायसवाल ने कहा कि उनके सवालों का जवाब बीजेपी के पार्षद देंगे।
संजय जायसवाल ने बुधवार को संवाददाताओं से बातचीत में परोक्ष रूप से कहा कि उपेंद्र कुशवाहा जिस कद के नेता हैं उनके सवालों का जवाब बीजेपी अध्यक्ष नहीं बल्कि उनके (कुशवाहा) कद के बीजेपी नेता ही देंगे। कुशवाहा वर्तमान में जदयू संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।
उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी नीत सरकार पर निशाना साधते हुए मंगलवार को संसद में पेश हुए आम बजट को बिहार के लिए निराशाजनक बताया था। कुशवाहा ने ट्वीट किया था, ‘‘केंद्रीय बजट विकसित राज्यों के लिए ऐतिहासिक परन्तु बिहार के लिए निराशाजनक है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को अनसुना कर हम बिहारवासियों को निराश किया है।’’  
CM नीतीश ने की बजट की सराहना 
वहीं, कुशवाहा के आरोपों से इतर जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बजट की सराहना की थी। उन्होंने कहा कि संतुलित बजट पेश करने के लिए वह केंद्र सरकार को बधाई देते हैं। केंद्र सरकार द्वारा देश में बड़े पैमाने पर आधारभूत संरचना के निर्माण का निर्णय भी स्वागत योज्ञ है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के द्वारा अपने संसाधनों से गंगा के दोनों किनारों के 13 जिलों में जैविक कॉरिडोर विकसित किया जा रहा है। इस वर्ष केंद्रीय बजट में गंगा के किनारे पांच किलोमीटर के स्ट्रेच में प्राकृतिक खेती का कोरिडोर विकसित करने का निर्णय लिया गया है। केंद्र सरकार का यह कदम सराहनीय है।
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष जायसवाल ने इसे ही मुद्दा बनाते हुए कहा कि जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बजट की सराहना कर दी है तो बाकी कोई क्या बयान देता है इसका कोई मतलब नहीं है। साथ ही उन्होंने कुशवाहा को अपने पद के स्तर का नेता मानने से इनकार कर दिया। कुशवाहा इस समय विधान पार्षद हैं, इसलिए जायसवाल ने कहा कि उनके सवालों का जवाब हमारे विधान पार्षद देंगे।
यह कोई पहला मौका नहीं है जब जायसवाल ने कुशवाहा पर कटाक्ष किया है। एक दिन पूर्व भी जायसवाल ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने सोशल मीडिया पर ही सीधे कुशवाहा पर हमला बोला और कहा कि उपेंद्र कुशवाहा के बुद्धि पर तरस आता है, वह केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं। उन्हें इतना भी मालूम नहीं कि बजट में इस तरह की बातें नहीं होती। इसके पूर्व सम्राट अशोक से संबंधित विवाद होने के दौरान भी जायसवाल ने कुशवाहा को खूब खरी खोटी सुनाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + 11 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।