लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फिर निकलेंगे यात्रा पर, शराबबंदी को लेकर महिलाओं का टटोलेंगे मन !

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फिर से एक यात्रा पर निकलने वाले हैं। संभवत: पंचायत चुनाव के बाद मुख्यमंत्री राज्य के सभी जिलों का दौरा करेंगे और विकास कार्यों का जायजा लेंगे।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फिर से एक यात्रा पर निकलने वाले हैं। संभवत: पंचायत चुनाव के बाद मुख्यमंत्री राज्य के सभी जिलों का दौरा करेंगे और विकास कार्यों का जायजा लेंगे। कहा जा रहा है कि शराबबंदी कानून को लेकर घिरे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस यात्रा का मुख्य मकसद विकास कार्यो को सरजमीं पर देखने के साथ लोगों से शराबबंदी कानून को लेकर उनकी इच्छा भी जानने का प्रयास करेंगे।
मुख्यमंत्री राज्य की यात्रा पर निकलते रहे हैं
बिहार के मुख्यमंत्री सत्ता में रहें हो या सत्ता से बाहर रहे हों वे राज्य की यात्रा पर निकलते रहे हैं और अपनी यात्रा का नाम भी देते रहे हैं। नीतीश अब तक न्याय यात्रा, विकास यात्रा, धन्यवाद यात्रा, प्रवास यात्रा, विष्वास यात्रा, सेवा यात्रा, अधिकार यात्रा, संकल्प यात्रा, संपर्क यात्रा सहित अन्य यात्राओं के जरिए राज्य की राजनीति को भांपते रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए खुद कहा है कि पंचायत चुनाव की समाप्ति के बाद वे राज्य की यात्रा पर निकलेंगे। नीतीश की यात्रा अमूमन चंपारण से प्रारंभ होती है, लेकिन पंचायत चुनाव के बाद नीतीश की होने वाली यात्रा कहां से प्रारंभ होगी इसकी घोषणा अब तक नहीं हुई है।
नीतीश की यात्रा का कोई न कोई मकसद होता है
वैसे, गौर से देखा जाए तो नीतीश की यात्रा का कोई न कोई मकसद होता है। इसलिए संभावित अगली यात्रा के मकसद को नकारा नहीं जा सकता है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री इस यात्रा के दौरान शराबबंदी के खिलाफ महिलाओं को जागरूक करेंगे तथा लोगों को शराबबंदी के फायदे भी गिनायेंगे। खास कर महिलाओं को शराबबंदी को पूर्णत: सफल बनाने के लिए आगे आने का आह्वान करेंगे।
नीतीश सरकारी योजनाओं की समीक्षा भी करेंगे
शराबबंदी को लेकर जागरूक करने के अलावा नीतीश सरकारी योजनाओं की समीक्षा भी करेंगे। सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री अधिकारियों के साथ जिलावार सरकार की योजनाओं और शराबबंदी की समीक्षा करेंगे। जदयू के एक नेता कहते हैं कि मुख्यमंत्री की यात्रा की तारीख अभी तय नहीं हुई है, इस कारण अभी इस पर बहुत कुछ नहीं कहा जा सकता है। वेैसे, उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री की यह कोई पहली यात्रा नहीं है। वे अक्सर राज्य के सभी जिलों में पहुंचकर स्वयं विकास कार्यों को देखते हैं और उसकी समीक्षा करते हैं।
विपक्षी दल शराबबंदी कानून को लेकर लगातार नीतीश कुमार को घेर रहे हैं
कहा जा रहा है कि विपक्षी दल शराबबंदी कानून को लेकर लगातार नीतीश कुमार को घेर रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री भी इस कानून को लेकर लोगों की खासकर महिलाओं की राय जानना चाहते हैं। माना जाता है कि नीतीश कुमार के शराबबंदी कानून के पीछे सोच यही थी कि इस कानून के आने के बाद महिलाएं खुश होंगी और जदयू का का एक वोटबैंक तैयार हो जाएगा। हालांकि राज्य में शराबबंदी कानून के बाद एक तबका नाराज भी नजर आ रहा है। कहा जा रहा है कि ऐसी स्थिति में नीतीश सरजमीं पर खुद उतरकर वास्तविकता का पता लगाना चाह रहे हैं।
सूत्र कहते भी हैं कि हाल में शराब पीने से लोगों की हुई मौत और पुलिस द्वारा षराब के नाम पर जहां-तहां बेकार की छापेमारी से लोग सरकार से नाराज भी हैं। एक अधिकारी बताते हैं कि मुख्यमंत्री की यात्रा को लेकर मुख्यमंत्री सचिवालय रणनीति बना रहा है। जल्द ही तारीख के साथ पूरे यात्रा की रूपरेखा तैयार की जायेगी और उसे सार्वजनिक किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।