माता बनी कुमाता! बिहार में मां ने 4 बच्चियों को तालाब में फेंका, 3 मासूमों की मौत

नूरजहां पति से झगड़े के बाद अपनी चारों बेटियों को लेकर मामा के घर पहुंचाने के बहाने घर से निकली और गौरा गांव में एक तालाब के पास रूककर अपनी चारों बेटियों को फेंकने लगी।

बिहार के गोपालगंज जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने मां के ममतामयी रिश्ते को शर्मशार कर दिया है। जिस मां के आंचल में कोई भी बच्चा सुकून पाता है, अगर वहीं अपनी औलादों की जान लेने पर आ जाए तो इसे आप क्या कहेंगे।
दरअसल, गोपालगंज जिले के कटेया थाना क्षेत्र में एक मां ने एक-एककर अपनी चार बेटियों को तालाब में फेंक दिया, जिसमें से तीन बच्चियों की मौत हो गई। तीनों शवों को पानी से बाहर निकाल लिया गया है। वहीं एक बच्ची का अस्पताल में इलाज चल रहा है। 
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कौलरही गांव निवासी असलम मियां की पत्नी नूरजहां का शुक्रवार की शाम किसी बात को लेकर अपने पति से फोन पर झगड़ा हुआ। झगड़ा होने के बाद नूरजहां अपनी चारों बेटियों को लेकर मामा के घर पहुंचाने के बहाने घर से निकली और गौरा गांव में एक तालाब के पास रूककर अपनी चारों बेटियों को फेकने लगी।
बेटियों के शोरगुल को सुन गांव के लोग इकट्ठा हो गए और तालाब में कूदकर बच्चियों की जान बचाने की कोशिश की। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद एक बच्ची को तो जिंदा बचा लिया, लेकिन अन्य तीन की मौत हो चुकी थी। कटेया के थाना प्रभारी सुमन कुमार मिश्रा ने बताया कि घटना की सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने स्थानीय ग्रामीणों की मदद से तीनों बच्चियों का शव को पानी से बाहर निकलवाया।
उन्होंने बताया कि मृतकों में गुलाबसा खातून (7), नूरसबा खातून (3) और तैयबा खातून (2) शामिल हैं। उन्होंने बताया कि बचाई गई बच्ची को इलाज के लिए एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी खतरे से बाहर बताई जा रही है।थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है तथा मामले की प्रत्येक कोणों से जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − fourteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।