NSUI ने B.ED की फीस वृद्धि के फैसले को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

पूरा देश इस समय में कोविड के संकटकाल से गुजर रहा है ऐसे विकट परिस्थितियों में पटना विश्वविद्यालय कुलपति द्वारा B.ED की फीस में वृद्धि की गयी है।

पटना: पूरा देश इस समय में कोविड के संकटकाल से गुजर रहा है सारे शिक्षण संस्थान नियमित रूप से बन्द है और ऐसे विकट परिस्थितियों में भी पटना विश्वविद्यालय कुलपति द्वारा B.ED की फीस जो टीचर्स ट्रेनिंग में सिर्फ 3500₹ थी और वुमेन्स ट्रेनिंग कॉलेज में निःशुल्क थी अब नए फैसले के अनुसार 25,000₹ में होगा।
NSUI के प्रदेश महासचिव एवं पटना विश्वविद्यालय प्रभारी आदित्य राज सिल्टू ने इस फैसले का विरोध करते हुए कहा कि पटना विश्वविद्यालय में B.ED की फीस का अचानक इतना बढ़ाना दुर्भाग्यपूर्ण है। पटना विश्वविद्यालय के कुलपति को सबसे पहले खुद को पटना विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं का कुलपति समझना होगा क्योंकि वो कुलपति की भूमिका में कम राजभवन के कलेक्शन पदाधिकारी के रूप में ज्यादा दिख रहे हैं। 
आदित्य राज सिल्टू ने कहा कि NSUI यह मांग करती है कि इस मामले पर पुनर्विचार कर फीस वृद्धि के फैसले को वापस लिया जाय अगर वापस नहीं लिया गया तो हम इसके खिलाफ उग्र आंदलोन करने को लेकर विवश होंगे और इसके जिम्मेवार सिर्फ कुलपति होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।