जीविका दीदी आगे बढ़ेंगी तो समाज और विकसित होगा : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ‘समाधान यात्रा’ के क्रम में खगड़िया जिले में विभिन्न विभागों के अंतर्गत चल रही विकास योजनाओं का जायजा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने खगड़िया जिले के अलौली प्रखंड के रौन में राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय का शिलापट्ट अनावरण कर उद्घाटन किया।

पटना , (पंजसाब केसरी) : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ‘समाधान यात्रा’ के क्रम में खगड़िया जिले में विभिन्न विभागों के अंतर्गत चल रही विकास योजनाओं का जायजा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने खगड़िया जिले के अलौली प्रखंड के रौन में राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय का शिलापट्ट अनावरण कर उद्घाटन किया। उद्घाटन के पश्चात् मुख्यमंत्री ने राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय के परिसर एवं भवन का निरीक्षण किया। विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग के सचिव  लोकेश कुमार सिंह ने वहां की व्यवस्थाओं के संबंध में मुख्यमंत्री को विस्तृत जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने स्मार्ट क्लास रूम में जाकर छात्र-छात्राओं से बातचीत की और अन्य क्लास रूम, कंप्यूटर सेंटर, सेंट्रल साइंस लाइब्रेरी, सर्वेयिंग लैब और हीट ट्रांसफर लैब आदि में जाकर कार्य पद्धति की जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय का भवन काफी अच्छा बना है। इसे मेंटेन रखें। परिसर में पौधारोपण कराएं। जल निकासी भी ठीक रखें और जहां पर जरूरत हो वहां पर पेवर ब्लॉक भी लगाएं। 

1674916201 untitled 4 copy.jpg21202
मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित ऑडिटोरियम का भी निरीक्षण किया । छात्र-छात्राओं के साथ तस्वीर खिंचवाई और उनसे बातचीत की। इसके पश्चात् मुख्यमंत्री ने परिसर में आम का पौधा भी लगाया। इंजीनियरिंग कॉलेज के उद्घाटन के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि दो-तीन जगहों पर जमीन मिलने में देरी होने के कारण वहां अभी तक इंजीनियरिंग कॉलेज बन रहा है, जबकि बाकी जगहों पर यह बनकर तैयार हो गया है। जहां-जहां इंजीनियरिंग कॉलेज बनकर तैयार हो जाता है वहां पर उसे देखने के लिए हमलोग जाते हैं। 
1674915576 2
इंजीनियरिंग कॉलेज काफी अच्छा बना है। यहां पढ़ने के लिए छात्र-छात्रायें आ गई हैं। सभी काफी खुश दिखाई दे रहे हैं। यहां काफी अच्छे तरीके से पढ़ाई हो रही है। यहां पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं, प्रोफेसर एवं अन्य कर्मचारियों के लिए भी रहने का इंतजाम किया गया है। साफ-सफाई का ध्यान रखने का हमने निर्देश दिया है। हमने भी एक जमाने में इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाई की थी। हम चाहते हैं कि यहां पढ़ने वाले सभी छात्र-छात्राओं के लिए सिनेमा दिखाने का भी इंतजाम हो। हमलोग इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ते थे तो सिनेमा देखा करते थे। अब हमलोग सिनेमा नहीं देख पाते हैं। बिहार के सभी जिलों में इंजीनियरिंग कॉलेज खुलवा रहे हैं। खगड़िया में हमलोग आते-जाते रहे हैं। बाढ़ की स्थिति में हमलोग वर्ष 2007-08 से ही एक-एक जगहों पर घूमकर जायजा लेते हैं। सभी जगहों से संपर्क स्थापित करने को लेकर खगड़िया में सड़कों का निर्माण कराया गया है। पहले सड़कों की स्थिति कैसी थी ? सभी जगहों पर सड़कों का चौड़ीकरण कराया गया ताकि आवागमन में किसी को कोई दिक्कत नहीं हो। 
1674915641 3
वर्ष 2020 से पहले तक हम विभिन्न जिलों में घूमते रहे हैं। कोरोना का दौर शुरू होने के बाद इसमें थोड़ी दिक्कत आयी। इस बार हमने सोचा कि बिहार के सभी जिलों में जाकर देख लें कि कहां पर क्या और कैसा विकास कार्य चल रहा है तब जाकर मेरे मन को संतोष होगा। इसी को लेकर हमलोग घूम रहे हैं। स्व. रामविलास पासवान जी के घर तक जाने को लेकर रास्ते का इंतजाम भी हमलोगों ने करवाया। अभी कोई कुछ भी बोले लेकिन आपलोग विधायक डॉ. संजीव कुमार से पूछ लीजिए कि स्व.रामविलास पासवान जी के घर तक जाने के लिए हमलोगों ने कितनी सड़कें बनवायी हैं। हमलोगों ने बिहार के सभी जिलों में काफी काम करवाया है। बिहार के सभी इलाकों का विकास हो रहा है। हमलोग यही देखने आये हैं कि जो काम कराये गये हैं वह पूर्ण हुआ है या नहीं और आगे क्या काम करना जरूरी है। इसी उद्देश्य को लेकर हमलोग घूम रहे हैं। इसके पश्चात् मुख्यमंत्री अलौली प्रखंड की ग्राम पंचायत अंबा- ईचरुआ के कामाथान गांव पहुंचे तथा ग्रामीणों से उनकी समस्याएं सुनीं और उसके समाधान के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया। 
1674915771 untitled 4 copy
मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना के लाभार्थियों को सांकेतिक चेक प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री ने जीविका हाट में जीविका महिला कृषि उत्पादक कंपनी लिमिटेड के विभिन्न क्रिया-कलापों एवं उपलब्धियों के संबंध में जीविका दीदियों से जानकारी ली। जीविका के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी सह मिशन निदेशक जल-जीवन-हरियाली अभियान   राहुल कुमार ने भी मुख्यमंत्री को जीविका दीदियों द्वारा जैविक खाद एवं कीटनाशक उत्पाद, मशरूम उत्पादन, सत्तू, बेसन, चूड़ा आदि उत्पाद से उन्हें हो रहे फायदे के संबंध में जानकारी दी। मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत बेकरी उत्पाद, बकरी पालन, गौ-पालन आदि कार्य कर रहीं जीविका दीदियों ने बताया कि मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत ढाई लाख रुपये की मदद मिली, जिससे मशीन खरीदकर हमने अपना रोजगार शुरू किया। साथ ही हमलोग 10. से 12 जीविका दीदियों को रोजगार भी दे रहे हैं। हम सभी बहुत खुश हैं और परिवार का अच्छे से भरण-पोषण कर रहे हैं।
1674915936 5
 मुख्यमंत्री ने सतत् जीविकोपार्जन योजना के तहत 30 परिवारों को 15 लाख रुपये का चेक भी सौंपा। मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत करते हुये कहा कि स्वयं सहायता समूह में जीविका दीदियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। आगे इनकी संख्या और हम बढ़ाना चाह रहे हैं। उनकी आमदनी को भी बढ़ाना चाह रहे हैं। जीविका दीदी आगे बढ़ेंगी तो समाज और विकसित होगा । ये लोग पढ़ने-पढ़ाने में भी सहयोग करेंगी । आपस में प्रेम-भाईचारे का भाव रखेंगी इसलिए हम एक-एक चीजों को देख रहे हैं कि सभी लोग काम करें। जीविका दीदियां अच्छा कर रही हैं। इसके पश्चात् मुख्यमंत्री ने मध्य विद्यालय कामाथान का भी निरीक्षण किया। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव   दीपक कुमार सिंह ने वहां की व्यवस्थाओं के संबंध में मुख्यमंत्री को जानकारी दी। मुख्यमंत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + 14 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।