Search
Close this search box.

Nepotism Ki Bachchi कहे जाने पर छलका Janhvi Kapoor का दर्द, बोलीं- लोग मेरे हार्ड वर्क को…

अपने करियर के 5 साल बाद भी सोशल मीडिया पर वो काफी ट्रोल होती हैं, आए दिन उन्हें नए-नए ताने सुनने को मिलते हैं। जिसका दर्द उन्होंने अब बयां किया है।

बॉलीवुड एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर अब कई सालों से एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री का हिस्सा हैं। एक्ट्रेस ने धड़क से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। इस दौरान उन्हें खूब ट्रोल किया गया था। लोगों ने जाह्नवी पर कई आरोप लगाए थे, ज़्यादातर लोगों का कहना था कि उन्हें एक्टिंग नहीं आती और फिल्मी बैकग्राउंड होने की वजह से उन्हें इतनी बड़ी फिल्म में काम मिल गया। 
1675940442 f37d722017cf186d0a38d0cd1d60ea0f
एक्ट्रेस ने कई फिल्मों में काम किया, लेकिन सभी की शिकायत वही रही और उन्हें नेपोटिज़्म की वजह से ट्रोलिंग का सामना करना पड़ा। मगर अब जाह्नवी कपूर अपनी एक्टिंग स्किल्स को इम्प्रूव कर चुकी हैं और बॉलीवुड को कई अच्छी मूवीज भी दे चुकी हैं। हालांकि अपने करियर के 5 साल बाद भी सोशल मीडिया पर वो काफी ट्रोल होती हैं, आए दिन उन्हें नए-नए ताने सुनने को मिलते हैं। जिसका दर्द उन्होंने अब बयां किया है।
1675940453 1aa30a926709525af56c7c894c8467fe14aa5
जान्हवी कपूर ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में अपने करियर पर खुलकर बात की और कहा कि- ‘लोग समझते हैं कि स्टार किड होने से मुझे आसानी से मौके मिलते हैं, लेकिन मैं इस वजह से काफी नुकसान में हूं। जब मैं अपने किरदार के लिए कड़ी मेहनत करती हूं, दूसरी तरफ मानसिक उथल-पुथल से गुजर रही होती हूं। ऐसे में सोशल मीडिया पर एक्टिंग स्किल्स पर लोग सवाल उठाते है या ‘नेपोटिज्म की बच्ची…’ जैसे कमेंट्स करते हैं। ऐसे में बहुत दुख होता है।’
1675940464 272240256 431914451973667 4968574433574057068 n
जान्हवी ने आगे कहा, ‘लोग अंदाज़े लगाते हैं कि मुझे सब कुछ बहुत आसानी से मिल गया है, लेकिन मेहनत करना मेरी प्रायोरिटी रही है। मैं अपनी मां की विरासत को जीना चाहती हूं। ये घमंड की बात नहीं है, बल्कि ये मेरी ख्वाहिश है।’
1675940479 327316877 730241642142683 8888665022625643360 n
एक्ट्रेस ने आगे कहा, ‘हो सकता है कि कुछ मौके मुझे आसानी से मिल गए, लेकिन मुझे लगता है कि मेरा घाटा ही रहा है। क्योंकि लोग मेरी फिल्मों को न्यूट्रल होकर देखने नहीं जाते। लोग मुझे प्रिविलेज्ड कहते हैं। जो लोग मेरे हार्ड वर्क को नजर अंदाज करते हैं, उन्हें मैं सिर्फ यही कहना चाहती हूं कि मैं हार्ड वर्क करती हूं। मेरे पास जो है उसकी कीमत समझती हूं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − 5 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।