Search
Close this search box.

Covid-19 की दवा की कालाबाजारी के खिलाफ भड़के आर. माधवन, बोले – ‘हमारे बीच राक्षस भी हैं’

कोरोना वायरस की इस संकट में दवाईयों और ऑक्सीजन की खूब कालाबजारी हो रही है। बॉलीवुड एक्टर आर. माधवन ने ऐसे ही लोगों से बचने के लिए अपने फैंस से गुहार लगाई है।

 कोरोना वायरस ने हाहाकार मचा रखा है। रोज मौतों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। लगातार कोरोना के बढ़ते आंकड़े अब डरा रहे हैं। देश जहां सबसे बड़ी महामारी से जूझ रहा है, वहीं इस संकट की घड़ी में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो मरीजों की जान बचाने की जगह दवाईयों की कालाबजारी कर रहे हैं। ऐसे ही लोगों के खिलाफ बॉलीवुड एक्टर आर. माधवन का गुस्सा फूटा है। सोशल मीडिया पर उन्होंने ऐसे लोगों को राक्षस बताया है।
1619854096 6b2b134b 7b5f 4ef5 96b4 6d81f6f5494e
कोरोना वायरस ने मानों लोगों का लाचार बचा दिया है। अस्पताल में बेड, रेमडेसिवीर इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलेंडर तक लोग सोशल मीडिया के जरिए मदद मांग रहे हैं। इस संकट में दवाईयों और ऑक्सीजन की खूब कालाबजारी हो रही है। बॉलीवुड एक्टर आर. माधवन ने ऐसे ही लोगों से बचने के लिए अपने फैंस से गुहार लगाई है।


ऐसे लोगों से बचने के लिए माधवन ने अपने ट्विटर पर पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने लिखा- मुझे भी यह प्राप्त हुआ। कृपया ध्यान रखें। हमारे बीच ऐसे राक्षस भी हैं। माधवन ने जो पोस्ट किया उसमें लिखा था- फ्रॉड एलर्ट, लोग सचेत रहें। मिस्टर अजय अग्रवाल 3 हजार रुपये में रेमडेसिवीर दवा बेच रहे हैं। यह आपसे IMPS के जरिए पैसे एडवांस में मांगेंगे, ताकि वह पैन इंडिया के जरिए 3 घंटे में आप तक डिलिवर हो जाए और फिर बाद में वह फोन नहीं उठाएंगे। ऐसे जालसाजों से सावधान रहे. यह आदमी फ्रॉड है।

1619854149 madhavan 1594901559
आपको बता दें कि पिछले महीने माधवन कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। उन्होंने अपने कोविड पॉजिटिव होने की जानकारी फैंस को बहुत ही क्रिएटिव तरीके से दी थी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − six =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।