एक बार फिर मुसीबत में फसती हुई नज़र आई राखी सावंत, दर्ज हुई एफआईआर जानिए क्या हैं वजह

लेकिन इस बार राखी सावंत को ट्रोल क नहीं बल्कि एफआईआर का शिखर होना पड़ा हैं। दरसअल आदिवासी समाज के कपड़ों का मजाक उड़ाना राखी पर भारी पड़ गया है।

फिल्म इंडस्ट्री की ड्रामा क्वीन राखी सावंत मुश्किलों में घिरती नजर आ रही हैं। वो अक्सर अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में बानी रहती हैं।  और इसी कारण उन्हें अधिकांश ट्रोल का भी शिकार होना पड़ता हैं।  लेकिन इस बार राखी सावंत को ट्रोल क नहीं बल्कि एफआईआर का शिखर होना पड़ा हैं। दरसअल आदिवासी समाज के कपड़ों का मजाक उड़ाना राखी पर भारी पड़ गया है। और उनके खिलाफ झारखंड के एससी-एसटी थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है।तो क्या हैं पूरा माजर जानते समझते हैं इस रिपोर्ट में। 
1650628197 heres why rakhi sawant is not attending all the ceremonies of rahul vaidya disha parmars wedding watchआदिवासी महिलाओं ने दर्ज कराया FIR 
दरसअल राखी के खिलाफ यह एफआईआर आदिवासी समाज के प्रमुख संगठन केंद्रीय सरना समिति ने दर्ज कराई है। समिति की ओर से शिकायत में कहा गया है कि राखी सावंत ने भद्दे कपड़े पहनकर जिसे आदिवासी पोशाक बताया है, उससे आदिवासी समाज की बदनामी हुई है। इस बारे में केंद्रीय सरना समिति के अध्यक्ष अजय तिर्की ने कहा कि आदिवासी समाज के लोग इस तरह के कपड़े नहीं पहनते हैं। उन्होंने कहा कि बेली डांस के कपड़े पहनकर इसे आदिवासी पोशाक बताना आपत्तिजनक है और इससे समाज के लोग अपमानित महसूस कर रहे हैं। इसी लिए हमने उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी है और जल्द से जल्द उनकी गिरफ्तारी की मांग भी कर रहे हैं।
गिरफ्तारी की हुई हैं मांग 
1650628227 rakhi sawant 87
वही उन्होंने कहा कि वह जल्द ही केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा से मिलकर उन्हें ज्ञापन देंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब तक राखी सावंत माफी नहीं मांगती हैं उनका कोई भी कार्यक्रम झारखंड में नहीं होने देंगे। बता दें कि राखी सावंत किसी न किसी वजह से अक्सर सुर्खियों में बनी रहती हैं। कई बार फैंस को इंप्रेस करने के चक्कर में वह ट्रोल्स का शिकार भी बन चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 + twelve =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।