Search
Close this search box.

सीबीआई ने गेल (इंडिया) लिमिटेड के पूर्व निदेशक के खिलाफ मामला दर्ज किया

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गुरुवार को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत आने वाली गेल (इंडिया) लिमिटेड के पूर्व निदेशक (विपणन) के खिलाफ अपने और अपने परिवार के सदस्यों के नाम पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गुरुवार को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत आने वाली गेल (इंडिया) लिमिटेड के पूर्व निदेशक (विपणन) के खिलाफ अपने और अपने परिवार के सदस्यों के नाम पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की।
सूत्रों के अनुसार, गेल (इंडिया) लिमिटेड के पूर्व निदेशक (विपणन) ई.एस. रंगनाथन के आवास और कार्यालय परिसर में तलाशी ली गई।
मामले की जांच के दौरान एकत्र और जब्त किए गए दस्तावेजों की जांच से पता चला है कि रंगनाथन 14 अक्टूबर, 1985 को गेल में शामिल हुए थे। उन्होंने 2016 से 2020 तक इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (आईजीएल) में प्रबंध निदेशक के रूप में सेकेंडमेंट के आधार पर काम किया। बाद में वह गेल (इंडिया) लिमिटेड में कार्यकारी निदेशक के रूप में शामिल हुए और निदेशक (विपणन) के पद पर कार्यरत थे।
रंगनाथन ने आईजीएल और गेल में अपनी पोस्टिंग के दौरान अपने और अपनी पत्नी वी.एन. मीनाक्षी के नाम पर भ्रष्ट और अवैध तरीकों से संपत्तियां (चल और अचल दोनों) अर्जित कीं। सीबीआई अधिकारी ने कहा, 1 जनवरी, 2017 से 17 जनवरी, 2022 की चेक अवधि के दौरान, रंगनाथन के पास पांच अचल संपत्तियां थीं। रंगनाथन के पास 1,29,10,500 रुपये की बड़ी नकदी, सोने के आभूषण, विदेशी मुद्राएं और उनके और साथ ही उनकी पत्नी के नाम पर खोले गए कई बैंक खातों में भारी राशि भी थी, जिसका वह संतोषजनक हिसाब नहीं दे सकते थे।
अधिकारी ने कहा कि 2017 से 2022 तक की चेक अवधि के दौरान, रंगनाथन की वेतन और आय के अन्य स्रोतों के माध्यम से आय 5,44,30,515 रुपये थी और उनका खर्च 4,02,83,712 रुपये था। रंगनाथन की आय के ज्ञात स्रोतों के अनुपात में 4,82,70,308 रुपये की संपत्ति की गणना की गई है। उन्होंने अपनी पत्नी और खुद के नाम पर संपत्ति अर्जित की है जो उनकी आय के ज्ञात स्रोत (88.68 प्रतिशत) से अधिक थी। हमने उसके खिलाफ आईपीसी और पीसी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।
आने वाले दिनों में रंगनाथन को जांच में शामिल होने के लिए बुलाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + twelve =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।