भारत और EU के अधिकारियों ने व्यापार समझौते को लेकर शुरू की तीसरे दौर की बातचीत

भारत और ईयू (यूरोपीय संघ) के अधिकारियों ने प्रस्तावित मुक्त व्यापार समझौते पर तीसरे दौर की बातचीत सोमवार को शुरू की।

भारत और ईयू (यूरोपीय संघ) के अधिकारियों ने प्रस्तावित मुक्त व्यापार समझौते पर तीसरे दौर की बातचीत सोमवार को शुरू की। इस समझौते का मकसद दोनों क्षेत्रों के बीच व्यापार और निवेश को गति देना है। भारत का यूरोपीय संघ के साथ द्विपक्षीय व्यापार 2021-22 में 43.5 प्रतिशत बढ़कर 116.36 अरब डॉलर रहा। वर्तमान में अमेरिका के बाद यूरोपीय संघ भारत का दूसरा सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है। वहीं भारतीय निर्यात का दूसरा सबसे बड़ा गंतव्य है।
यूरोपीय संघ और भारत ने इस साल 17 जून को औपचारिक रूप से भौगोलिक संकेतक (जीआई) सहित प्रस्तावित भारत-यूरोपीय संघ व्यापार और निवेश समझौते पर बातचीत फिर से शुरू की। अधिकारी ने कहा कि यूरोपीय संघ का प्रतिनिधिमंडल तीसरे दौर की वार्ता के लिए यहां आया है और यह वार्ता नौ दिसंबर तक चलेगी। दोनों पक्षों के बीच दूसरे दौर की वार्ता ब्रसेल्स में हुई थी।
वाणिज्य मंत्रालय के अनुसार, यूरोपीय संघ के साथ व्यापार समझौते से भारत को वस्तुओं और सेवाओं के निर्यात को बढ़ाने तथा उसे विविध रूप देने में मदद मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − 7 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।