शराब घोटाले को लेकर संबित पात्रा का आरोप-सबूत मिटाने की हो रही है कोशिश

दिल्ली में कथित शराब घोटाले को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर केजरीवाल सरकार को निशाने पर लिया है। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि घोटाले से जुड़े सबूतों को मिटाने की कोशिश की जा रही है।

दिल्ली में कथित शराब घोटाले को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर केजरीवाल सरकार को निशाने पर लिया है। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि घोटाले से जुड़े सबूतों को मिटाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने आम आदमी पार्टी को कट्टर बेईमानी और भ्रष्ट पार्टी करार दिया है। 
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि आबकारी नीति को 5 जुलाई, 2021 को सार्वजनिक किया गया था, लेकिन नीति की एक कॉपी 31 मई, 2021 को मनीष सिसोदिया के दोस्तों को लीक कर दी गई थी, जिसमें निर्माता और कार्टेल शामिल थे।
34 लोगों द्वारा बदले गए 140 मोबाइल
उन्होंने कहा, जब पूरी आबकारी नीति का मुद्दा एक घोटाले के रूप में सामने आया और सीबीआई जांच शुरू हुई तो आरोपी नंबर एक मनीष सिसोदिया सहित 34 लोगों द्वारा 140 मोबाइल फोन बदले गए। और डिजिटल सबूत मिटाने के उद्देश्य से फोन कुचले गए। 
संबित पात्रा ने कहा कि आम आदमी पार्टी एक कट्टर भ्रष्ट पार्टी है। उन्होंने कहा कि दो लोगों को रिमांड पर लिया गया है, हैदराबाद से बिजनेसमैन को गिरफ्तार किया गया है। इसके तार शराब नीति से जुड़े हैं। शराब घोटाले को लेकर परत दर परत खुल रही हैं।

SC से मनीष सिसोदिया को बड़ा झटका, अधिकारियों के बारे में दिए गए Affidavit को गैर जरूरी बताया

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक लेटर दिखते हुए उन्होंने कहा कि ये रिमांड लेटर हैं, जिसमें 2631 करोड़ का नुकसान हुआ। 140 फोन पकड़े गए हैं। 140 फोन नए खरीदे गए। डिजिटल सबूत को छुपाने के लिए मनीष सिसोदिया ने ये सब किया। ऐसा करने के लिए एक करोड़ 20 लाख खर्च किए। डिजिटल सबूत मिटाने की कोशिश की गई है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − 3 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।