Search
Close this search box.

आतिशबाज़ी के बाद जहरीली हुई हवा पर बोले केजरीवाल-काफी उत्साहजनक आए नतीजे

दिवाली की रात हुई आतिशबाज़ी के बाद दिल्ली की हवा में एक बार फिर जहर घुल गया। लेकिन बीते सालों के मुताबिक राजधानी में दिवाली की अगली सुबह काफी साफ दर्ज हुई।

दिवाली की रात हुई आतिशबाज़ी के बाद दिल्ली की हवा में एक बार फिर जहर घुल गया। लेकिन बीते सालों के मुताबिक राजधानी में दिवाली की अगली सुबह काफी साफ दर्ज हुई। इसपर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि प्रदूषण के क्षेत्र में दिल्लीवासी काफ़ी मेहनत कर रहे हैं। 
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, “प्रदूषण के क्षेत्र में दिल्लीवासी काफ़ी मेहनत कर रहे हैं। काफी उत्साहजनक नतीजे आये हैं। पर अभी लंबा रास्ता तय करना है। दिल्ली को दुनिया का सबसे बेहतरीन शहर बनायेंगे।” दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) के जारी डेटा के अनुसार, मंगलवार सुबह प्रदूषण का स्तर बेहद खराब रहा और AQI बढ़कर 323 पहुंच गया। 


DPCC के अनुसार, दल्लिी के जहांगीरपुरी में सामान्य से 10 गुणा अधिक वायु प्रदूषित दर्ज की गई है। रात एक्यूआई 770 दर्ज किया गया था। यह आईआईटी दिल्ली में 334, पूसा में 304, मथुरा रोड में 323, गुरूग्राम में 245, आर के पुरम 208, पंजाबी बाग में 202, दिल्ली वश्विवद्यिालय में 365, ओखला में 262, गाजियाबाद में 278, दिल्ली एयरपोर्ट में 354 आनंद विहार में 374 एक्यूआई दर्ज किया।

दरअसल, दिल्ली-NCR में रातभर हुई आतिशबाजी के बाद हवा की क्वालिटी यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) बहुत खराब कैटेगरी में पहुंच गया है। पटाखे जलाने पर निकले जहरीले धुंए के बाद दिल्ली का एक्यूआई रेड जोन में चला गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, दिवाली की रात दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गया।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − 3 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।