दिल्ली हिंसा की साजिश मामले में 17 सितंबर तक चार्जशीट दाखिल की जाएगी

पुलिस उपायुक्त (विशेष शाखा) प्रमोद सिंह कुशवाहा ने भी कहा कि दंगे सुनियोजित साजिश के नतीजे थे क्योंकि जांच के दौरान पुलिस को सीएए विरोधियों का एक जैसा पैटर्न नजर आया: सड़क जाम कर दो।

दिल्ली के पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने सोमवार को कहा कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगे की साजिश की जांच पूरी होने के करीब है और इस सिलसिले में बृहस्पतिवार तक आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा। 
पुलिस उपायुक्त (विशेष शाखा) प्रमोद सिंह कुशवाहा ने भी कहा कि दंगे सुनियोजित साजिश के नतीजे थे क्योंकि जांच के दौरान पुलिस को सीएए विरोधियों का एक जैसा पैटर्न नजर आया: सड़क जाम कर दो।  उन्होंने कहा, ‘‘ यह इस बात का पहला संकेत है कि साजिश रची गयी थी जिसके कारण यह सब शुरू हुआ।’’  इन दोनों अधिकारियों ने वेबीनार में अपनी बात कही। 
श्रीवास्तव ने यह भी कहा कि पुलिस जिन लोगों की जांच कर रही है, उनमें कुछ की काफी अच्छी सोशल मीडिया मौजूदगी है।  उन्होंने कहा, ‘‘ चूंकि हम जांच के आखिरी छोर पर पहुंच रहे हैं, उमर खालिद भी गिरफ्तार किया जा चुका है। इसलिए खासकर सोशल मीडिया और टीवी चैनलों पर अधिक शोर मचाया जा रहा है। वे जांच से चमक छीन लेने की कोशिश कर रहे हैं। ’’ पुलिस आयुक्त ने कहा कि 751 मामले दर्ज किये और बहुत निष्पक्ष तरीके से जांच की गई।  इस वेबीनार का आयोजन दिल्ली पुलिस ‘रिटायर्ड गजेटेड ऑफिसर्स एसोसिएशन’ ने किया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − 8 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।