मुख्यमंत्री केजरीवाल ने राजघाट डिपो पर 100 लो फ्लोर वातानुकूलित बसों को दिखाई हरी झंडी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को राजघाट डिपो पर 100 लो फ्लोर वातानुकूलित बसों को हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर उन्होंने दावा किया गया कि इसके साथ ही दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन बस सेवा के बेड़े में कुल बसों की संख्या 6,900 हो गई है, जो अबतक का सबसे बड़ा बेड़ा है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को राजघाट डिपो पर 100 लो फ्लोर वातानुकूलित बसों को हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर उन्होंने दावा किया गया कि इसके साथ ही दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन बस सेवा के बेड़े में कुल बसों की संख्या 6,900 हो गई है, जो अबतक का सबसे बड़ा बेड़ा है।
1642160009 0100
वहीं, कार्यक्रम में शामिल दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि शहर का परिवहन विभाग अप्रैल तक 300 ई-बसों को लाने की कोशिश कर रहा है। केजरीवाल ने कहा, ‘‘इन 100 बसों को शामिल करने के साथ सार्वजनिक परिवहन बसों के बेड़े में इनकी संख्या बढ़कर 6,900 हो गई है, जो अबतक का सर्वाधिक है। इससे पहले राष्ट्रमंडल खेलों (वर्ष 2010)के दौरान बेड़े में सबसे अधिक करीब 6000 बसें थी।’’ उन्होंने कहा कि सरकार ई-बसों सहित कई और बसें खरीद रही है।
1642160019 02
केजरीवाल ने कहा, ‘‘ निविदा की प्रक्रिया और अन्य औपचारिकताओं की वजह से नयी बसों को आने में दो से तीन साल का समय लगता है, यह एक रात में नहीं हो सकता। जब हमारी सरकार बनी, तब बसों की कमी थी क्योंकि कई वर्षों से नयी बसों की खरीद नहीं की गई थी। जब हमने खरीद की प्रक्रिया शुरू की, तब बसों की संख्या बढ़ी।
1642160030 0333
केजरीवाल ने कहा कि 100 नयी बसों में से अधिकतर गुमनहेड़ा डिपो से ग्रामीण मार्गों पर चलेंगी। उन्होंने कहा, ‘‘हम सार्वजनिक परिवहन को मजबूत करने को लेकर प्रतिबद्ध हैं ताकि सुनिश्चित हो सके कि लोगों को नियमित अंतराल पर यात्रा के लिए बसें मिलें।
1642160043 04
इस बीच, परिवहन मंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘बधाई हो। आज हमने बीएस-VI मानक वाले 100 और वातानुकूलित सीएनजी बसों को अपने बेड़े में शामिल किया। माननीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के शानदार नेतृत्व में दिल्ली में वर्ष 2022 में और आधुनिक बसें देखने को मिलेंगी, जिनमें 100 प्रतिशत बिजली से चलने वाली बसों को भी बेड़े में शामिल किया जा रहा है। गहलोत ने बताया कि प्रोटोटाइप ई-बस को मुख्यमंत्री सोमवार को हरी झंडी दिखाएंगे। उन्होंने बताया कि फरवरी के पहले या दूसरे हफ्ते में 50 और ई-बसें आएंगी और अप्रैल तक 300 ऐसी बसों को लाने की कोशिश की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 + seven =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।