Coronil : योग गुरु रामदेव के खिलाफ डॉक्टरों की याचिका पर दिल्ली HC में टली सुनवाई

पतंजलि की ‘कोरोनिल’ दवा के उपयोग को लेकर विभिन्न चिकित्सक संगठनों द्वारा दायर याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई टल गई है।

पतंजलि की ‘कोरोनिल’ दवा के उपयोग को लेकर विभिन्न चिकित्सक संगठनों द्वारा दायर याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई टल गई है। दिल्ली हाई कोर्ट ने शुक्रवार को याचिका सुनवाई 30 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी। कोर्ट ने कहा कि न्यायिक औचित्य और अनुशासन को ध्यान में रखते हुए कार्यवाही को तब तक रोका जाए, जब तक कि सुप्रीम कोर्ट के समक्ष कथित रूप से इसी तरह के मुद्दों के लंबित होने के संबंध में ‘‘कुछ स्पष्टता’’ नहीं हो।
न्यायमूर्ति अनूप जयराम भंभानी ने कहा कि ‘इंडियन मेडिकल एसोसिएशन’ (आईएमए) द्वारा सुप्रीम कोर्ट के समक्ष लंबित याचिका की एक प्रति उच्च न्यायालय के समक्ष पेश की जाये, ताकि वह इस पर निर्णय ले सके कि क्या इस मामले में कोई ‘‘समानता’’ है और क्या उसे इस पर आगे बढ़ना चाहिए? 

Jamia Millia Islamia: सफूरा जरगर के पीएचडी दाखिले को रद्द करने की सिफारिश

कई चिकित्सक संगठनों ने पिछले साल हाई कोर्ट का रुख कर यह आरोप लगाया था कि रामदेव जनता को यह कहकर गुमराह कर रहे हैं कि एलोपैथी कोविड​​-19 से संक्रमित कई लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार रही। याचिका में आरोप लगाया गया कि रामदेव यह दावा कर गलत जानकारी पेश कर रहे हैं कि पतंजलि की ‘कोरोनिल’ कोरोना वायरस का इलाज है।
संगठनों की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता अखिल सिब्बल ने कहा कि उन्हें सुप्रीम कोर्ट के समक्ष याचिका के तथ्यों के बारे में पता नहीं है। हालांकि, उन्होंने मामले को जनहित से जुड़ा बताकर तत्काल सुनवाई का अनुरोध किया। वहीं, रामदेव की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता पी.वी. कपूर ने कहा कि कार्यवाही को फिलहाल के लिए टाल दिया जाना चाहिए, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट के समक्ष लंबित मामला भी मौजूदा याचिका जैसा ही है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven + twenty =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।