दिल्ली सरकार ने किया ऐलान- 2 महीने मिलेगा मुफ्त राशन, ऑटो और टैक्सी चालकों को 5 हजार रुपये

दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच दिल्ली सरकार ने दिल्ली के सभी राशन कार्ड धारकों को अगले 2 महीने का राशन मुफ्त देने का फैसला किया है।

दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच दिल्ली सरकार ने दिल्ली के सभी राशन कार्ड धारकों को अगले 2 महीने का राशन मुफ्त देने का फैसला किया है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ऑटो और टैक्सी चालकों को 5 – 5 हजार रुपए की आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराएगी।दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को यह घोषणा करते हुए कहा कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन लगाना पड़ा है। आज हम लोगों ने दो निर्णय लिए हैं।
 दिल्ली में लगभग 72 लाख राशन कार्ड धारक है इन सभी 72 लाख राशन कार्ड धारकों को अगले 2 महीने के लिए मुफ्त में राशन दिया जाएगा। इसका मतलब यह मत निकालिएगा कि दिल्ली में लॉकडाउन दो महीने चलेगा। हम चाहते हैं कि दिल्ली में कोरोना के मामले कम हो और लॉकडाउन जल्दी खत्म किया जाए। यह कदम सिर्फ गरीब लोगों को अगले दो महीने तक राशन मुफ्त देने के लिए उठाया गया है।
दूसरा निर्णय यह है कि दिल्ली में जितने भी ऑटो और टैक्सी चालक हैं ये बेचारे रोज ऑटो टैक्सी चलाकर अपना घर चलाते थे। इन लोगों के घर में बहुत ज्यादा सेविंग भी नहीं है। पिछले कुछ हफ्ते से दिल्ली में लॉकडाउन हैं जिससे इन लोगों की रोजी-रोटी खत्म हो गई है। दिल्ली सरकार ने इन सभी लोगों को पांच पांच हजार रुपये देने का निर्णय किया है। पिछले साल भी लॉकडाउन के दौरान दिल्ली सरकार ने ऐसा ही निर्णय लिया था। करीब एक लाख 56 हजार लोगों की मदद इसके माध्यम से की जा सकेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सब लोग जानते हैं कि लॉकडाउन खासतौर पर गरीब लोगों के लिए बहुत बड़ा आर्थिक संकट पैदा कर देता है। दिहाड़ी के जरिए रोज कमाकर रोज खाने वाले लोगों के लिए अपना घर चलाना मुश्किल हो जाता है। इसी को देखते हुए पिछले सप्ताह श्रमिकों के खातों में 5 – 5 हजार रुपए देने और कोरोना पॉजिटिव हुए श्रमिकों को अतिरिक्त मदद देने का निर्णय लिया गया।
सीएम केजरीवाल ने सभी लोगों से इस मौके पर जरूरतमंद लोगों की मदद करने का आवाहन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी लोग दलगत राजनीति से ऊपर उठकर जरूरतमंद लोगों की मदद करें। जरूरतमंद लोगों को खाना, दवा व अन्य सहायता पहुंचाएं। अपनी क्षमता के अनुसार लोगों को आर्थिक मदद देने की कोशिश करें। यदि किसी को ऑक्सीजन मुहैया कराने में मदद कर सकते हैं तो इसमें मदद करें। अगर हम सब लोग मिलकर कोरोना से लड़ेंगे तो जरूर हमारी जीत होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।