Search
Close this search box.

जगह की कमी के कारण दिल्ली सरकार ‘special school of excellence’ नहीं खोल पा रही : सिसोदिया

दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी के सभी क्षेत्रों में अपने विशेष उत्कृष्टता स्कूल खोलना चाहती है, लेकिन जगह की कमी के कारण ऐसा नहीं कर पा रही है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को एक विशेष उत्कृष्टता स्कूल के दौरे के दौरान यह बात कही।

दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी के सभी क्षेत्रों में अपने विशेष उत्कृष्टता स्कूल खोलना चाहती है, लेकिन जगह की कमी के कारण ऐसा नहीं कर पा रही है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को एक विशेष उत्कृष्टता स्कूल के दौरे के दौरान यह बात कही।
सिसोदिया ने सूरजमल विहार में डॉ. बी आर आंबेडकर विशेष उत्कृष्टता स्कूल का दौरा कर वहां के छात्र-छात्राओं के साथ बातचीत की। डॉ. बी आर आंबेडकर विशेष उत्कृष्टता स्कूल कक्षा 9 से 12 तक का एक स्कूल है, जिसमें छात्र-छात्राओं को उनके चुने हुए विषयों में विशेषज्ञता प्रदान की जाती है।
राष्ट्रीय राजधानी में फिलहाल ऐसे 46 स्कूल हैं
सिसोदिया ने कहा, “हमारे यहां कौशल-आधारित शिक्षा प्रदान की जाती है। हमने आईबी (इंटरनेशनल बैकलॉरिएट) बोर्ड के साथ सहयोग किया है और यह हमारे द्वारा की गई अपनी तरह की पहली पहल है।” उन्होंने कहा, “पढ़ाई महत्वपूर्ण है। हमारे यहां पढ़ाई का कोई दबाव नहीं है। यहां छात्रों को हर विषय की जानकारी मिलती है।”
सिसोदिया ने कहा, “हम सभी क्षेत्रों में ऐसे विशेष स्कूल चाहते हैं, लेकिन हम जगह की समस्या का सामना कर रहे हैं।” मंत्री ने कहा कि सरकार विशिष्ट स्कूलों की संख्या बढ़ाने की अपनी योजना पर आगे बढ़ने के लिए छात्रों से संबंधित आंकड़े जुटा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 3 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।