Search
Close this search box.

जंतर मंतर पर बजरंग पूनिया-विनेश फोगाट समेत कई पहलवानों का प्रदर्शन, WFI प्रमुख के रवैये से है नाराज

एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए तोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता बजरंग पूनिया और विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता विनेश फोगाट समेत देश के शीर्ष पहलवान भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के तानाशाही रवैये के खिलाफ बुधवार को धरने पर बैठ गए।

एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए तोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता बजरंग पूनिया और विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता विनेश फोगाट समेत देश के शीर्ष पहलवान भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के तानाशाही रवैये के खिलाफ बुधवार को धरने पर बैठ गए। पहलवानों ने अपनी शिकायतों या मांगों के बारे में विस्तार से नहीं बताया लेकिन यह स्पष्ट था कि वे डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष और कैसरगंज से भाजपा सांसद सिंह के रवैये से आजिज आ चुके हैं।
बजरंग, विनेश, रियो ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक, विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता सरिता मोर, संगीता फोगाट, सत्यव्रत मलिक, जितेंद्र किन्हा और राष्ट्रमंडल खेल पदक विजेता सुमित मलिक जंतर मंतर पर धरने पर बैठे 30 पहलवानों में हैं। बजरंग ने मीडिया से कहा ,‘‘ हमारी लड़ाई सरकार या भारतीय खेल प्राधिकरण के खिलाफ नहीं है। हम डब्ल्यूएफआई के खिलाफ है। हम आज इसका ब्यौरा देंगे। ये तो अब आर पार की लड़ाई है।’’
बजरंग का सहयोगी स्टाफ भी धरने पर बैठा है जिसमें उनके कोच सुजीत मान और फिजियो आनंद दुबे शामिल हैं। एक अन्य पहलवान ने कहा ,‘‘तानाशाही नहीं चलेगी।’’ सिंह 2011 से डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष हैं और फरवरी 2019 में लगातार तीसरी बार चुने गए। साक्षी ने ट्वीट किया ,‘‘ खिलाड़ी देश के लिये पदक जीतने की भरसक कोशिश करते हैं लेकिन महासंघ ने हमें नीचा दिखाने के सिवाय कुछ नहीं किया। खिलाड़ियों को परेशान करने के लिये एकतरफा नियम बनाये जा रहे हैं।’’ अंशु मलिक, संगीता फोगाट और अन्य पहलवानों ने भी हैशटैग बायकॉट डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष ट्वीट करके पीएमओ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को टैग किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − seven =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।