दिल्ली में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के आरोप में पांच लोग गिरफ्तार

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में कथित संलिप्तता के लिए दिल्ली के अलग-अलग हिस्से से पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया। दक्षिणी दिल्ली में तीन लोगों को पकड़ा गया जबकि पश्चिमी दिल्ली में भी दो लोग हिरासत में लिए गए।

कोरोना वायरस के मामलों में तेज बढ़ोतरी के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में कथित संलिप्तता के लिए दिल्ली के अलग-अलग हिस्से से पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया। दक्षिणी दिल्ली में तीन लोगों को पकड़ा गया जबकि पश्चिमी दिल्ली में भी दो लोग हिरासत में लिए गए।
पुलिस ने बताया कि दक्षिणी दिल्ली में रविवार को गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान पटपड़गंज निवासी लिखित गुप्ता (30), दरियागंज में रहने वाले आकाश वर्मा (23) और गीता कॉलोनी के निवासी अनुज जैन (40) के तौर पर हुई। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने बताया, ‘‘इंडिया हैबिटैट सेंटर, लोधी रोड के पास एक कार की तलाशी ली गई। जांच करने पर गुप्ता और वर्मा के पास से रेमडेसिविर के चार इंजेक्शन मिले।’’
अधिकारी ने बताया कि पकड़े गए लोगों ने पुलिस को बताया कि वे जरूरतमंद लोगों को एक इंजेक्शन 70,000 रुपये में बेचते थे। पुलिस ने रेमडेसिविर दवा की कथित कालाबाजारी के लिए पश्चिमी दिल्ली में भी दो लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि तिलक नगर थाने के कर्मियों को मिली गुप्त सूचना के बाद रविवार को गुरप्रीत सिंह (29) और अनुज जायसवाल (30) को गिरफ्तार किया गया। सिंह मायापुरी में कल-पूर्जे का व्यापार करता है जबकि जायसवाल कृष्णानगर में एक अस्पताल में काम करता है। दोनों के पास से रेमडेसिविर दवा बरामद की गई ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − 10 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।