Search
Close this search box.

गार्गी कॉलेज में हुई छेड़छाड़ मामले में जांच टीम अगले हफ्ते सौंपेगी रिपोर्ट

उल्लेखनीय है कि गार्गी कॉलेज में छह फरवरी को वार्षिकोत्सव ‘रेवरी’ का आयोजन किया गया था। जिसमें कुछ बाहर के संदिग्ध लोग घुस गए थे और उन्होंने कथित तौर पर छात्राओं के साथ छेड़खानी की थी।

दिल्ली विश्वविद्यालय के गार्गी कॉलेज में सांस्कृतिक कार्यक्रम ‘रेवरी’ के दौरान छात्राओं के साथ कथित छेड़छाड़  के मामले में जांच में जुटी पुलिस अगले सप्ताह तक अपनी रिपोर्ट सौंपेंगी। साथ ही कॉलेज सोमवार को फिर से खुल जाएगा। इस मामले में पुलिस की तरफ से सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा चुके हैं। जिसके आधार पर 100 से ज्यादा लोगों को चिन्हित किया गया। इनमें से अब तक दर्जन भर लोग गिरफ्तार भी हो चुके हैं।
 इस मामले की जांच के लिए पुलिस की ओर से 11 टीमें लगी हुई हैं, जो कि दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग शहरों में दबिश दे रही हैं। कॉलेज सूत्रों ने बताया,गार्गी कॉलेज में छात्राओं के साथ हुई छेड़खानी के मामले में गठित ‘फैक्ट फाइंडिंग टीम’ अगले हफ्ते तक अपनी रिपोर्ट पेश कर देगी। कॉलेज सोमवार से दोबारा खुल रहा है।

पिछले साल की तुलना में इस बार होली ज़्यादा शांतिपूर्ण तरीके से मनाई गई – दिल्ली पुलिस

उल्लेखनीय है कि गार्गी कॉलेज में छह फरवरी को वार्षिकोत्सव ‘रेवरी’ का आयोजन किया गया था। जिसमें कुछ बाहर के संदिग्ध लोग घुस गए थे और उन्होंने कथित तौर पर छात्राओं के साथ छेड़खानी की थी। कॉलेज की छात्राओं ने आरोप लगाया कि इन लोगों ने उनके साथ यौन हिंसा की, साथ ही भद्दे इशारे किए और गंदी बातें भी कही।
इसके कई दिन बाद कॉलेज की छात्राओं ने अपना विरोध जताने के लिए एक रैली भी निकाली थी। रैली में यौन उत्पीड़न के मामले को लेकर छात्राओं ने आवाज उठाई और आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की। इसके बाद पूरे घटनाक्रम की जांच के लिए एक जांच टीम का गठन किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 + 18 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।