सिसोदिया ने लिखा DU के कुलपति को पत्र- अस्थाई गेस्ट शिक्षकों को स्थायी करने की मांग की

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर योगेश सिंह को पत्र लिखकर स्थाई भर्ती में अस्थाई, गेस्ट शिक्षकों को समाहित करने की मांग की।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर योगेश सिंह को पत्र लिखकर स्थाई भर्ती में अस्थाई, गेस्ट शिक्षकों को समाहित करने की मांग की। वीसी को लिखे पत्र में सिसोदिया ने कहा, दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों में सहायक प्रोफेसरों के लिए चल रहे साक्षात्कार बेकार रहे हैं। कॉलेजों के कॉर्पोरेट जीवन में योगदान और अनुभवी शिक्षकों की कमी से कॉलेजों में शिक्षण और सीखने पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।
1674828728 untitled 2 copy.jpg2052520
(प्रतिकात्मक छवि)
स्थायी भर्ती में अस्थाई शिक्षकों को समाहित किया जाना चाहिए
उपमुख्यमंत्री ने आगे कहा की हमारा मानना है कि स्थायी भर्ती में अस्थाई शिक्षकों को समाहित किया जाना चाहिए। इनमें से कई शिक्षक दशकों से दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों में पढ़ा रहे हैं। वे दिल्ली विश्वविद्यालय जैसे संस्थान की चुनौतियों को समझते हैं और जानते हैं कि विविध भाषाई पृष्ठभूमि और अकादमिक अनुभव वाले देश के विभिन्न हिस्सों से आने वाले छात्रों से कैसे निपटा जाए।
पत्र में खास बात क्या लिखें सिसोदिया 
सिसोदिया ने कहा कि कक्षा में पढ़ाने के अनुभव की जगह नहीं ली जा सकती इसलिए इन शिक्षकों को दिल्ली विश्वविद्यालय में जारी रखना जरूरी है। पत्र में लिखा गया है कि, अध्यादेश 18-4(ए) शिक्षण स्टाफ की नियुक्ति शासी निकाय द्वारा किए जाने का प्रावधान करता है। हमारे 28 कॉलेजों में, हम स्थाई और अस्थाई शिक्षकों के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं। सिसोदिया ने कहा, हम आपसे इन कॉलेजों में अस्थायी शिक्षकों को स्थायी करने का अनुरोध करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।