Search
Close this search box.

Article 370 के निरस्त होने के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं में काफी कमी आई: अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि अनुच्छेद-370 निरस्त होने के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं में काफी कमी आई है और रिकॉर्ड संख्या में पर्यटक केंद्र शासित प्रदेश की यात्रा कर रहे हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि अनुच्छेद-370 निरस्त होने के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं में काफी कमी आई है और रिकॉर्ड संख्या में पर्यटक केंद्र शासित प्रदेश की यात्रा कर रहे हैं। अमित शाह ने मंगलवार को हरियाणा पुलिस को उसकी असाधारण सेवा के लिए ‘राष्ट्रपति निशान’ प्रदान किया और अपने संबोधन में यह बात कही। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के नेतृत्व वाली सरकार ने पिछले आठ वर्षों में जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों तथा पूर्वोत्तर में उग्रवाद और वामपंथी उग्रवाद समेत देश की आंतरिक सुरक्षा संबंधी चुनौतियों का सफलतापूर्वक मुकाबला किया है। उन्होंने कहा, ‘‘आज मैं संतोष के साथ कह सकता हूं कि अनुच्छेद-370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं में काफी कमी आई है और रिकॉर्ड संख्या में पर्यटक जम्मू-कश्मीर आते हैं। यह बेहद संतोष देने वाला है।’’
केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ऐसे अपराधों के संबंध में फॉरेंसिक जांच को अनिवार्य बनाने के लिए आपराधिक प्रक्रिया संहिता, भारतीय दंड संहिता और साक्ष्य अधिनियम में बदलाव लाएगी, जिनके लिए छह साल अथवा उससे अधिक की सजा का प्रावधान है। शाह ने करनाल के मधुबन में हरियाणा पुलिस अकादमी में एक समारोह में राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू की ओर से यह सम्मान प्रदान किया। ‘राष्ट्रपति निशान’ एक सैन्य, अर्धसैनिक या पुलिस इकाई को उसकी सेवाओं के लिए दिया जाने वाला एक विशेष ‘ध्वज’ है। हरियाणा पुलिस को प्रदान किए गए ध्वज की प्रतिकृति को सभी अधिकारियों और बल के रैंक धारक जवानों द्वारा उनकी वर्दी पर प्रतीक चिन्ह के रूप में लगाया जा सकता है। शाह ने अपने संबोधन में कहा, ‘‘ प्रधानमंत्री के नेतृत्व में गृह विभाग कई आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपट रहा है। इन चुनौतियों में जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद, पूर्वोत्तर और वामपंथी उग्रवाद, जिसका दर्द देश कई दशकों से झेलता आ रहा है। ’’
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद पर लगाम लगाने में बड़ी सफलता हासिल की है। उन्होंने कहा कि इसी तरह पूर्वोत्तर में 8,000 से अधिक हथियारबंद युवकों ने आत्मसमर्पण किया और उन्हें मुख्यधारा में लाया गया है। शाह ने कहा कि पूरे पूर्वोत्तर भारत में शांति है और वहां विकास और विश्वास का नया माहौल बना है। उन्होंने वामपंथी उग्रवाद (एलडब्ल्यूई) को लेकर कहा कि 2021 में ऐसी घटनाओं की रिपोर्ट करने वाले जिलों की संख्या 96 से गिरकर 46 हो गई है। उन्होंने कहा कि वामपंथी उग्रवाद के तहत हर तरह की हिंसा में 70 फीसदी की कमी आई है। शाह ने कहा, ‘‘ इससे पता चलता है कि देश बहुत कम समय में वामपंथी उग्रवाद की समस्या पर पूरी तरह से काबू पा लेगा।’’उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के नशा मुक्त अभियान के तहत गृह विभाग विभिन्न राज्यों की सरकारों के साथ समन्वय कर इसे आगे बढ़ा रहा है। शाह ने मधुबन में आयोजित परेड की सलामी भी ली। इस अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, गृह मंत्री अनिल विज, विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।