Search
Close this search box.

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इन राज्यों ने लिया स्कूलों को बंद करने का फैसला, देखें पूरी लिस्ट

पहली से 8वीं तक के स्कूल 31 मार्च 2021 तक बंद रखे गए थे। जिसे लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए 15 अप्रैल 2021 तक कर दिया गया

देशभर में कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए सभी राज्यों ने सख्त फैसले लेने शुरू कर दिए है और इन फैसलों में सबसे पहले राज्यों ने स्कूलों को बंद करने का कदम उठाया है जानकारी के लिए आपको बता दें कि बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए यूपी, एमपी, पंजाब, गुजरात समेत कई राज्यों ने स्कूल-कॉलेजों को फिर से बंद रखने का फैसला लिया है।
महाराष्ट्र राज्य में कोरोना की रफ़्तार को देखते हुए पुणे, लातूर, पालघर में 31 मार्च तक स्कूल बंद किये गए। वहीँ राज्य में मंगलवार को कोविड -19 के रोजाना के मामलों के मुकाबले बहुत दिन बाद बड़ी गिरावट देखने को मिली। बता दें कि मंगलवार को 27,918 नए मामले सामने आए हैं जबकि दो दिन पहले ये संख्या 40,000 से अधिक से अधिक थी।
पंजाब की बात करें तो सरकार ने पहले से जारी पाबंदियां अगले 10 अप्रैल तक बढ़ाते हुए स्कूल और कॉलेज बंद रखने का फैसला किया है। अभी तक यह पाबंदियां 31 मार्च तक थी।  इसी के साथ पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने  कोरोना जांच और टीकाकरण को बढ़ाने का आदेश दिया है।
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य में कोरोना महामारी की स्थिति का पता लगाने के लिए बीते मंगलवार को अपने आवास पर समीक्षा बैठक की और इस मीटिंग में, 8वीं क्लास तक स्कूलों को चार अप्रैल तक बंद रखने का फैसला किया गया। 
वहीँ मध्य प्रदेश में 8वीं तक की सभी कक्षाएं 15 अप्रैल तक बंद रहेंगे। मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा मंगलवार को जारी आदेश में कहा गया है, ‘विभाग की समीक्षा बैठक 4 दिसंबर 2020 में लिए गये फैसले अनुसार पहली से 8वीं तक के स्कूल 31 मार्च 2021 तक बंद रखे गए थे। जिसे लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए 15 अप्रैल 2021 तक कर दिया गया है।’ लेकिन कक्षा 9वीं से 12वीं तक की कक्षा 01 अप्रैल से शुरू होंगी। हालांकि, ऑफलाइन क्लास के लिए अभिभावकों की अनुमति जरूरी होगी।
गुजरात की स्थिति पर एक नज़र डालें तो राज्य के आठ नगरपालिका क्षेत्रों में स्थित स्कूलों को 10 अप्रैल तक बंद रखने का फैसला लिया गया है। इनमें अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, राजकोट, जामनगर, जूनागढ़, भावनगर और राज्य राजधानी गांधीनगर शामिल है। हालांकि, कक्षा 9 और 11 के लिए स्कूलों को सीमित स्टाफ सदस्यों और कोरोना वायरस सावधानियों के साथ फरवरी में फिर से खोल दिया है।
राजधानी दिल्ली में नया शैक्षणिक सत्र अप्रैल की पहली तारीख से शुरू तो हो रहा है लेकिन दिल्ली सरकार ने यह साफ़ कर दिया है कि नाज़ुक स्थिति को देखते हुए 8वीं तक के स्कूल नहीं खोले जाएंगे और स्कूली प्रक्रिया को ऑनलाइन ही आगे बढ़ाया जाएगा।  
तमिलनाडु सरकार ने 22 मार्च से अगले आदेश तक कक्षा 9, 10 और 11 के लिए स्कूलों को बंद करने का भी आदेश दिया है।
तेलंगाना राज्य में मेडिकल कॉलेजों को छोड़कर सभी शिक्षण संस्थानों को कोविड -19 मामलों में तेजी से बढ़त मामलों के चलते बंद कर दिया गया है।
छत्तीसगढ़ राज्य ने भी अगली सूचना तक स्कूल बंद करने की घोषणा की। इसी के साथ सीएम भूपेश बघेल ने 10 वीं और 12 वीं कक्षा में पढ़ने वालों को छोड़कर सभी कक्षाओं के छात्रों को बिना परीक्षा के अगली क्लास में प्रमोट करने का फैसला लिया है।
हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में कोविड -19 मामलों में हालिया स्पाइक के कारण एहतियात के तौर पर 4 अप्रैल तक विश्वविद्यालयों, कॉलेजों, तकनीकी संस्थानों और स्कूलों सहित सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया है।
बीते मंगलवार को जारी किये गए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों की बात करें तो देशभर में भारत में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 1 करोड़ 21 लाख 49 हजार 335 के पार पहुंच गई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 − 7 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।