यूक्रेन से सुरक्षित निकाले गए हिमाचल के 198 लोग, खारकीव में अब भी फंसे हैं 53 छात्र

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने विधानसभा में बताया कि यूक्रेन से अब तक राज्य के 198 लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश के 249 छात्र यूक्रेन के पड़ोसी देशों में पहुंच चुके हैं।

यूक्रेन में बिगड़ते हालातों के बीच भारत ने अपने नागरिकों की निकासी के लिए अभियान तेज कर दिया है। इस अभियान के तहत हिमाचल प्रदेश के 198 लोगों को युद्धग्रस्त यूक्रेन से सुरक्षित निकाला जा चुका है। वहीं 53 छात्र ऐसे हैं जो अभी भी खारकीव शहर में फंसे हुए हैं।
हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गुरुवार को विधानसभा में बताया कि यूक्रेन से अब तक राज्य के 198 लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश के 249 छात्र यूक्रेन के पड़ोसी देशों में पहुंच चुके हैं। वहीं राज्य के 53 छात्र अभी भी यूक्रेन के खारकीव शहर में फंसे हुए हैं। खारकीव में इन दोनों रूसी सेना ने अपने हमले तेज कर दिए हैं।

बेरोजगारी और महंगाई को लेकर राहुल ने PM पर बोला हमला, ट्वीट किया वीडियो

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार यूक्रेन में फंसे हुए ज्यादातर छात्रों के लगातार संपर्क में है, जबकि शेष छात्रों से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने विधानसभा में कहा कि खारकीव, कीव और अन्य क्षेत्रों में फंसे हुए छात्रों को निकालने के प्रयास किए जाने चाहिए।
उन्होंने कहा कि छात्रों को यूक्रेन की सीमा पार करने के लिए परामर्श जारी किया गया है, लेकिन उनके लिए बसों की या कोई अन्य वैकल्पिक व्यवस्था की जानी चाहिए क्योंकि उन्हें गोलाबारी और भारी बर्फबारी की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राप्त जानकारी के अनुसार, मौजूदा समय में हिमाचल प्रदेश का कोई भी छात्र यूक्रेन की राजधानी कीव में नहीं है, क्योंकि उन सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया है। जयराम ठाकुर ने उम्मीद जताई कि जल्द ही सब कुछ ठीक हो जाएगा क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दोनों देशों के प्रमुखों से भारत के छात्रों की निकासी के प्रयासों में मदद के लिए बात की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + six =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।