मुंबई : CRZ नियमों के उल्लंघन को लेकर BMC ने नारायण राणे के बंगले का किया निरीक्षण

बीएमसी की टीम ने तटीय नियामक क्षेत्र के नियमों के कथित उल्लंघन को लेकर जुहू इलाके में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के स्वामित्व वाले एक बंगले का निरीक्षण किया।

तटीय नियामक क्षेत्र (Coastal Regulatory Zone) के नियमों के कथित उल्लंघन को लेकर बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) की टीम ने सोमवार को जुहू इलाके में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के स्वामित्व वाले एक बंगले का निरीक्षण किया। राणे की मौजूदगी में दो घंटे से अधिक समय तक चले निरीक्षण के दौरान ‘आदिश’ बंगले में पुलिस सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।
बीएमसी के अधिकारी कुछ पुलिसकर्मियों के साथ सुबह करीब 11 बजे परिसर में पहुंचे। सूत्रों ने कहा कि उन्होंने कुछ तस्वीरें और माप भी लिए, विभिन्न दस्तावेजों की जांच की और राणे के साथ इस पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि पश्चिमी उपनगर में के-वेस्ट सिविक वार्ड के अंतर्गत आने वाले बंगले में प्रवेश करने से पहले बीएमसी की टीम कुछ सुरक्षाकर्मियों को अपने साथ लेने के लिए सांताक्रूज पुलिस स्टेशन गई थी।

तीसरा मोर्चा बनाने की कवायद पर बोले केंद्रीय मंत्री अठावले-NDA को कोई खतरा नहीं

के-वेस्ट वार्ड के सहायक नगर आयुक्त ने निरीक्षण के बारे में सवाल पूछने के लिए किए गए कॉल या लिखित संदेशों का जवाब नहीं दिया। इससे पहले, बीएमसी की एक टीम ने शुक्रवार शाम को बंगले का दौरा किया था, लेकिन वहां राणे परिवार के किसी भी सदस्य के मौजूद न होने के कारण बिना कोई कार्रवाई किए वापस लौट आई थी।
शिवसेना और बीजेपी के बीच चल रहे वाक्युद्ध के बीच, बीएमसी ने पिछले हफ्ते बंगले के मालिक को निरीक्षण करने और परिसर की माप लेने के लिए नोटिस जारी किया था। शिवसेना नियंत्रित बीएमसी द्वारा जारी नोटिस में मालिक का नाम नहीं था। बंगले के निर्माण के दौरान सीआरजेड मानदंडों और अन्य नियमों के कथित उल्लंघन के बारे में एक कार्यकर्ता द्वारा दायर शिकायत के आधार पर नगर निकाय ने नोटिस जारी किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।