Search
Close this search box.

PM के पुणे दौरे पर बोले पवार- अधूरी परियोजनाओं के उद्घाटन से अधिक जरूरी है यूक्रेन से छात्रों को वापस लाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुणे दौरे से पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार को कहा कि जिस मेट्रो सेवा का मोदी उद्घाटन करने वाले हैं उसका काम अभी अधूरा है। इसके साथ ही उन्होंने युद्धग्रस्त यूक्रेन से भारतीय छात्रों को वापस लाने की जरूरत को रेखांकित किया।

यूक्रेन में जारी युद्ध के बीच अभी भी कई छात्र फंसे हुए है। ऐसे में भारत सरकार अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रही है कि हर छात्र को सुरक्षित तरीके से वापिस देश लाया जाए। लेकिन इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुणे दौरे से पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार को कहा कि जिस मेट्रो सेवा का मोदी उद्घाटन करने वाले हैं उसका काम अभी अधूरा है। इसके साथ ही उन्होंने युद्धग्रस्त यूक्रेन से भारतीय छात्रों को वापस लाने की जरूरत को रेखांकित किया। 
सत्तारूढ़ दल को इसके बारे में गंभीरता से सोचना चाहिए 
प्रधानमंत्री रविवार को पुणे जाने वाले हैं, जहां वह मेट्रो सेवा तथा अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे। पवार ने कहा, “मैं मानता हूं कि पुणे में महत्वपूर्ण परियोजनाएं हैं, जो अधूरी हैं और प्रधानमंत्री एक अहम परियोजना का उद्घाटन करेंगे… (लेकिन) यूक्रेन में फंसे छात्रों को निकालना अधिक महत्वपूर्ण है। मुझे लगता है कि सत्तारूढ़ दल को इसके बारे में गंभीरता से सोचना चाहिए।” 

दिल्ली-NCR में मदर डेयरी ने दूध की कीमतों में किया इजाफा, यहां देखें बढ़ी हुई कीमतें

शहर के वारजे इलाके में एक अस्पताल का उद्घाटन करने के बाद शरद पवार ने संवाददाताओं से बातचीत में यह बयान दिया। भारतीय छात्रों की परेशानी पर उन्होंने कहा कि रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध से बहुत से छात्रों को तकलीफ का सामना करना पड़ रहा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, “मैंने वहां फंसे एक भारतीय छात्र से बात की थी। उसने मुझे बताया कि भारतीय दूतावास ने उन्हें यूक्रेन की सीमा पार करने को कहा है जो उस स्थान से पैदल छह घंटे की दूरी पर है, जहां छात्र फंसे हैं।” 
लेकिन मुझे लगता है कि यूक्रेन में फंसे छात्रों को निकालना अधिक महत्वपूर्ण है 
पवार ने कहा, “छात्र पैदल चलने के लिए तैयार हैं, लेकिन बेहद ठंड, बमबारी और गोलीबारी उनकी चिंता का मुख्य कारण हैं। मुझे लगता है कि सत्तारूढ़ दल (भाजपा) को इस पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।” उन्होंने कहा, “मैं मानता हूं कि पुणे में महत्वपूर्ण परियोजनाएं चल रही हैं और प्रधानमंत्री एक अहम परियोजना का उद्घाटन करेंगे, लेकिन (मुझे लगता है कि) यूक्रेन में फंसे छात्रों को निकालना अधिक महत्वपूर्ण है। मुझे लगता है कि सत्तारूढ़ दल को इसके बारे में गंभीरता से सोचना चाहिए।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।