Search
Close this search box.

छत्तीसगढ़ : सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच में हुई मुठभेड़, जवानों ने ढेर किया इनामी नक्सली

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले सुकमा में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में जवानों ने एक इनामी नक्सली को मार गिराया है

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले सुकमा में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में जवानों ने एक इनामी नक्सली को मार गिराया है और एक नक्सली कैंप को ध्वस्त कर बड़ी मात्रा में हथियार एवं विस्फोटक सामग्री बरामद की है। पुलिस सूत्रों ने आज बताया कि प्रदेश के दंतेवाड़ा और सुकमा की सीमा पर नक्सल अभियान के लिए स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ), डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (डीआरजी) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) जवानों की संयुक्त टीम कल गश्त पर गई थी।
एक नक्सली कैंप को भी किया ध्वस्त 
पुलिस सूत्रों ने बताया कि, सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ हुई, जिसमें पांच लाख का इनामी एरिया कमेटी मेंबर मड़कम मुझ्या मार गिराया गया। जबकि यहाँ के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के करीगुंडम और माटेमरका के जंगलों में बने एक नक्सली कैंप को सुरक्षाबलों ने ध्वस्त कर दिया। घटनास्थल की तलाशी में तीन देशी बंदूकें, करीब तीन किलोग्राम वजनी एक आइईडी, 80 मीटर बिजली का तार, दो पिटठू और कुछ अन्य सामान मिले हैं।
हाल ही में मारी गयी थी इनामी नक्सली कमांडर
सूत्रों ने बताया कि मंगलवार को इसी इलाके में पांच लाख की इनामी नक्सली कमांडर मुन्नी मारी गई थी। नक्सलियों ने तेलुगु भाषा में पत्र जारी कर मंगलवार को बीजापुर जिले के सेमलडोडी के जंगलों में हुई मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की पहचान जारी की है। इन नक्सलियों की पहचान वेंकटापुरम वाजेडू एरिया कमेटी सचिव संता उर्फ मड़काम छत्तीसगढ़, दंतेवाड़ जिले के चिकपाल का निवासी कोयासी मुयाल और भूपालपल्ली तेलंगाना का निवासी नरेश कोम्मूला जगैयापेटा के रूप में हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three + seventeen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।