नाबालिग के अपहरण व रेप का आरोपी बच्चों का सौदागर गिरफ्तार

एक महिला ने अपनी नाबालिग बेटी को अज्ञात व्यक्ति द्वारा बहला फुसलाकर नशीला पदार्थ खिलाफ दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी थी। लक्सर निवासी पीडि़ता की तहरीर पर पुलिस ने मुकद्दमा दर्ज करते हुए आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी।

हरिद्वार, संजय चौहान (पंजाब केसरी): एक महिला ने अपनी नाबालिग बेटी को अज्ञात व्यक्ति द्वारा बहला फुसलाकर नशीला पदार्थ खिलाफ दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी थी। लक्सर निवासी पीडि़ता की तहरीर पर पुलिस ने मुकद्दमा दर्ज करते हुए आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी। काफी प्रयासों के बावजूद भी मामले में आरोपी से किसी प्रकार का कोई सम्पर्क न होने के कारण, उसके सम्बन्ध में कोई जानकारी पुलिस को नहीं मिल पा रही थी।
पुलिस द्वारा लगातार किए जा रहे प्रयासों के फलस्वरूप एक आरोपी मोहम्मद मुस्तक कादरी पुत्र अकील अहमद निवासी सिरसौल पट्टी सीताराम बदायूं उप्र का नाम प्रकाश में आया। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने रेलवे स्टेशन लक्सर से आरोपी को पकड़ा लिया। पूछताछ एवं तलाशी लेने पर पर मोहम्मद मुस्तक कादरी के कब्जे से कई ऐसे दस्तावेज बरामद हुए जिससे उसके मानव व्यापार में गहराई से लिप्त होने का शक हुआ।
क्षेत्राधिकारी (ऑपरेशन) निहारिका सेमवाल, प्रभारी निरीक्षक लक्सर यशपाल बिष्ट एवं एएचटीयू टीम के पर्यवेक्षण में मोहम्मद मुस्तक कादरी से पूछताछ करने पर बताया कि लोगों की नजरों में धूल झोंकने के लिए उसने चाईल्ड लाईन व प्रयास अनाथालय दिल्ली के फर्जी दस्तावेज बनाए हैं। आरोपी ने हरिद्वार सिडकुल क्षेत्र में किराये का कमरा भी ले रखा था। किसी को कोई शक न हो जाए इस कारण आसपास के क्षेत्र में अपने आप को रेलवे चाईल्ड हेल्प लाईन आफिसर बताता था।
आरोपी ने बताया कि विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर वह हमेशा भूले भटके बच्चों के शिकार की तलाश में रहता था। मौका मिलते ही चुपके से बच्चा चोरी कर लेता था। बताया कि जरूरतमंद लोगों को बच्चा गोद दिलाने के नाम पर लगभग एक 01 वर्ष के बच्चे को दिल्ली बस अड्डे से तथा एक बच्चे को गाजियाबाद से चोरी कर उन्हें देहरादून एवं बदायूं में बेच दिया था।
दिल्ली से बच्चा चोरी होने की घटना के संबंध में थाना कश्मीरी गेट पर मुकद्मा पंजीकृत है, जबकि जनपद गाजियाबाद से चुराये हुए बच्चे के सम्बन्ध में विभिन्न माध्यमों से पुलिस जुटा रही है। आरोपी मोहम्मद मुस्तक कादरी की निशांदेही पर लक्सर पुलिस टीम तथा एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (हरिद्वार) ने अपहृत दोनों बच्चो को सकुशल बरामद कर लिया।
पुलिस ने बताया कि अभियुक्त मोहम्मद मुस्तक कादरी बेहद शातिर है जिसके द्वारा अन्य लोगों से भी बच्चा गोद दिलाने के नाम पर कई लाख रूपये वसूल कर रखे थे। अभियुक्त के मानव दुर्व्यवापार में सम्मिलित होने के सम्बन्ध में कोतवाली लक्सर पर प्रभावी धाराओं में अलग से अभियोग पंजीकृत किया गया है।
उक्त मामले लक्सर में अभियुक्त मुस्ताक द्वारा नाबालिक को रेलवे स्टेशन हरिद्वार से बहला-फुसलाकर कोतवाली हरिद्वार क्षेत्रांतर्गत शोभा लॉज में ले जाकर दुराचार किया गया थ। होटल मालिक द्वारा नाबालिक की आईडी प्राप्त न करने के संबंध में उसके विरुद्ध भी कड़ी कार्रवाई की जा रही है।
घटना के कई महीने हो जाने के बावजूद भी मामले के खुलासे के लिए मैन्युअल पुलिसिंग एवं अनगिनत सीसीटीवी कैमरे चेक कर रहे एसआई मनोज नौटियाल व एस आई गीता चौहान का विशेष योगदान रहा। पुलिस ने दिल्ली में गाजियाबाद से अपृहत दो नाबालिक बच्चे जिन्हें जनपद देहरादून उत्तराखंड एवं जनपद बदायूं उत्तर प्रदेश से बरामद किया गया। अभियुक्त द्वारा बनाये गये चाईल्ड हैल्प लाईन संबंधी फर्जी दस्तावेज बरामद किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven + seven =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।