रमन सिंह ने भूपेश बघेल को बताया सोनिया का ATM, भड़के CM ने कानूनी कार्रवाई की दी चेतावनी

रमन सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सोनिया गांधी का ATM बता दिया। उनके इस बयान पर मुख्यमंत्री बघेल ने माफ़ी नहीं मांगे जाने की स्थिति में कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता रमन सिंह ने विवादित बयान देकर राज्य की सियासत को गरमा दिया है। रमन सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सोनिया गांधी का ATM बता दिया। उनके इस बयान पर मुख्यमंत्री बघेल ने माफ़ी नहीं मांगे जाने की स्थिति में कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है।  
सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि रमन सिंह जी का बयान आपत्तिजनक है। वो कहते हैं कि सोनिया गांधी के ATM हैं, वो कहते हैं 25 रुपए टन कोयला में ले रहे हैं। प्रमाणित करें या सार्वजनिक रूप से माफी मांगे। नहीं तो उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी, उनके खिलाफ मानहानि का दावा भी करूंगा।
कौन किसका ATM, प्रमाण तो देना ही पड़ेगा
इसके आलावा उन्होंने ट्वीट भी किया, जिसमें लिखा “भ्रष्टाचार के अंतरराष्ट्रीय पितामह को लगता है कि मार्गदर्शक मंडल में हुई वाइल्ड कार्ड एंट्री से बाहर आने के लिए छत्तीसगढ़ को बदनाम करेंगे, ये नहीं चलेगा। कौन किसका एटीएम है, इसका प्रमाण तो देना ही पड़ेगा। पनामा के खाते में दर्ज है जिनका नाम वो फिर करने लगे छत्तीसगढ़ को बदनाम।” 

उत्तराखंड में बदमाश को पकड़ने पहुंची UP पुलिस पर हमला, SHO समेत 5 पुलिसकर्मी घायल, एक महिला की मौत

दरअसल, राज्य में चल रही ED की कार्रवाई को लेकर किए गए सवाल पर रमन सिंह ने कहा था, “मैं पहले से कह रहा हूं कि भूपेश बघेल कांग्रेस पार्टी और सोनिया गांधी का एटीएम है। राज्य में अवैध वसूली हो रही है। कोयले में अवैध वसूली हो रही है। अब यहां काली कमाई का पोल खुलने लगा है। सच सामने आएगा और सब सामने आएगा।” ‘
उन्होंने कहा था, “यह सरकार जाने वाली है। यहां कई हजार करोड़ रुपये का खेल हो रहा है, यहां सभी जानते हैं। सरकार विकास कार्य नहीं कर पा रही है, लेकिन वसूली करके असम और उत्तर प्रदेश के चुनावों (विधानसभा) में भेजने के लिए पर्याप्त पैसे हैं।”
उल्लेखनीय है कि मंगलवार को छत्तीसगढ़ के दुर्ग में मुख्यमंत्री बघेल की ओएसडी सौम्या चौरसिया, रायगढ़ में कलेक्टर रानू साहू के आवास पर, महासमुंद में अग्नि चंद्राकर, सूर्यकांत तिवारी, माइनिंग हेड आईएएस जेपी मौर्य के रायपुर स्थित आवास पर, रायगढ़ के गांजा चौक निवासी नवनीत तिवारी, प्रिंस भाटिया, सीए सुनील अग्रवाल के ठिकानों पर ईडी ने छापेमारी की। 
बता दें कि इससे पहले भी आईटी और ईडी द्वारा मुख्यमंत्री की ओ एच डी सौम्या चौरसिया, कलेक्टर रानू साहू, सूर्यकांत तिवारी से पहले भी पूछताछ की जा चुकी है। इस दौरान कोयला व्यापारी सूर्यकांत तिवारी और सौम्या चौरसिया के घर से बड़ी मात्रा में लगभग 200 करोड रुपए की चल अचल संपत्ति सामने आई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।