Search
Close this search box.

कांग्रेस ने गहलोत के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने पर बघेल पर निशाना साधा

कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ कथित अमर्यादित टिप्पणी करने पर केंद्रीय विधि व न्याय राज्यमंत्री एस.पी. सिंह बघेल पर बृहस्पतिवार को निशाना साधा।

कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ कथित अमर्यादित टिप्पणी करने पर केंद्रीय विधि व न्याय राज्यमंत्री एस.पी. सिंह बघेल पर बृहस्पतिवार को निशाना साधा। कांग्रेस नेताओं के अनुसार इस तरह की अमर्यादा का लोकतंत्र व सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं है।
स्वच्छ राजनीति में आलोचना के लिए संयमित भाषा आवश्यक है
केंद्रीय मंत्री बघेल ने बुधवार को उदयपुर के खरसान में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री गहलोत पर 2018 विधानसभा चुनाव के कांग्रेस घोषणा पत्र के वादे पूरे नहीं करने का आरोप लगाया और ‘अमर्यादित टिप्प्णी’ की। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने ट्विटर पर बघेल की उस टिप्पणी का वीडियो साझा किया है। इसके साथ ही डोटासरा ने लिखा, ‘‘स्वच्छ राजनीति में आलोचना के लिए संयमित भाषा व सैद्धांतिक मूल्यों को आत्मसात करना आवश्यक है, लेकिन मोदी सरकार मर्यादा भूल चुकी है।’’
राजस्थान इकाई के कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘केंद्रीयमंत्री बघेल द्वारा मुख्यमंत्री गहलोत पर की गई अभद्र टिप्पणी की हम निंदा करते हैं इसका सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं है।’’ पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी कांग्रेस नेताओं के खिलाफ अमर्यादित भाषा के इस्तेमाल के लिए भाजपा नेताओं की आलोचना की है। पायलट ने अपने आवास पर जनसुनवाई के दौरान कहा कि केन्द्रीय राज्य मंत्री एस.पी. सिंह बघेल द्वारा कांग्रेस नेताओं के खिलाफ जो बयानबाजी की गई है, वह अमर्यादित है। 
राजनीति में वैचारिक विरोध स्वीकार्य 
उन्होंने कहा कि राजनीति में वैचारिक विरोध स्वीकार्य होता है, परन्तु इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल करने से ना सिर्फ स्वयं की साख को ठेस पहुंचती है बल्कि जनता में भी नकारात्मक संदेश जाता है। पायलट के कहा भाजपा नेता अपने अनर्गल बयानों के लिए जनता से माफी मांगें। स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बघेल की निंदा करते हुए कहा,‘‘ इस तरह की अमर्यादित टिप्पणी सहन नहीं की जा सकती। भाजपा को इसकी कीमत उपुचनाव में चुकानी होगी। राजस्थान के मुख्यमंत्री के खिलाफ इस तरह की टिप्प्णी कोई पसंद नहीं करता।’’
इससे पहले मुख्यमंत्री गहलोत के विशेष अधिकारी (ओएसडी) लोकेश शर्मा ने केंद्रीय मंत्री बघेल की उक्त टिप्प्णी का वीडियो सोशल मीडिया पर साझा करते हुए इसे शर्मनाक बताया। उन्होंने लिखा,‘‘ लोकतंत्र में आलोचना का तात्पर्य अभद्रता और बेअदबी नहीं है। आपके घटिया और अमर्यादित शब्दों पर आम जन सोचे कि कोरी पब्लिसिटी पाने के लिए और कितना गिरेंगे?’’ उल्लेखनीय है कि राज्य की वल्लभनगर (उदयपुर जिला) व धरियावद (प्रतापगढ़ जिला) विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव हो रहा है। मतदान 30 अक्टूबर को कराया जाएगा व मतों की गिनती दो नवंबर को होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − nine =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।