1 लाख के इनामी नक्सली कमांडर समेत चार नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण, खोखली विचारधारा से आये तंग

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में सुरक्षा बलों के सामने चार नक्सलियों ने आत्मसमर्पण कर दिया है जिनमें तीन पर ईनाम घोषित किया गया था।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में सुरक्षा बलों के सामने चार नक्सलियों ने आत्मसमर्पण कर दिया है जिनमें तीन पर ईनाम घोषित किया गया था।दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि जिले में लोन वर्राटू (घर वापस आइए) अभियान से प्रभावित होकर चार नक्सलियों – मिलिशिया कमांडर सैनू उर्फ नरेश (21), मिलिशिया सदस्य संपत मंडावी (22), मिलिशिया सदस्य हिड़मो उर्फ मनोज कुहडामी (25) और मिलिशिया सदस्य रामा बघेल (31) ने सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मिलिशिया कमांडर नरेश के सर पर एक लाख रुपए का इनाम है जबकि मिलिशिया सदस्य संपत मंडावी और रामा बघेल के सर पर 10-10 हजार रुपए का इनाम है।उन्होंने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों ने पुलिस को जानकारी दी है कि उन्होंने माओवादी संगठन की खोखली विचारधारा से तंग आकर तथा लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर आत्मसमर्पण करने का फैसला किया है।पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों के खिलाफ पुलिस दल पर हमला, पेड़ काटकर मार्ग अवरुद्ध करने तथा कई अन्य नक्सली घटनाओं में शामिल होने का आरोप है।
उन्होंने बताया कि जिले में माओवादियों को आत्मसमर्पण के लिए प्रेरित करने के लिए लोन वर्राटू अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत जिले के थाने, पंचायत भवनों और अन्य सार्वजनिक स्थानों में नक्सलियों का नाम चस्पा कर उनसे आत्मसमर्पण करने का अनुरोध किया जा रहा है। इस अभियान के शुरू होने के बाद से अब तक 94 इनामी नक्सलियों समेत कुल 350 नक्सलियों ने सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।