गुजरात के वलसाड में भारी वर्षा, जनजीवन अस्त व्यस्त

भारी वर्षा के कारण वलसाड जिले में जनजीवन पर भी प्रतिकूल असर पड़ा है। इसके चलते राष्ट्रीय राजमार्ग 48 और तुलसी नदी पर बने कम से कम तीन कॉजवे पर पानी भर गया है।

गुजरात के दक्षिणी जिले वलसाड तथा आसपास के क्षेत्रों में पिछले 24 घंटे के दौरान भारी से अति भारी वर्षा हुई है जिससे जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है जबकि मौसम विभाग ने वहां अगले 24 घंटे के दौरान भी इस तरह की वर्षा की चेतावनी जारी की है।
वलसाड जिले में औसतन 257 मिलीमीटर यानी दस ईंच से अधिक वर्षा हुई है और इसके वापी शहर और तालुका में 357 मिमी यानी 14 ईंच वर्षा दर्ज की गई है जो आज सुबह छह बजे तक के पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य के किसी एक तालुका की सर्वाधिक वर्षा है। 
इस दौरान कुल 33 में से 23 जिलों के 121 तालुका में वर्षा हुई है। मौसम विभाग ने दक्षिण गुजरात तथा इसके आसपास के क्षेत्रों के ऊपर बनी चक्रवाती प्रणाली के प्रभाव से अगले 24 घंटे में भी वलसाड, नवसारी, डांग जिलों तथा समीपवर्ती केंद्रशासित प्रदेश दमन और दादरा नगर हवेली में भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है।
 पिछले 24 घंटे में वलसाड शहर में 336 मिमी, उमरगाम में 285 मिमी, पारडी में 253 मिमी तथा नवासरी के जलालपुर में 205 मिमी वर्षा दर्ज की गयी है। इसके साथ ही राज्य में मानसूनी वर्षा का प्रतिशत बढ़ कर 15.13 हो गया है। 
भारी वर्षा के कारण वलसाड जिले में जनजीवन पर भी प्रतिकूल असर पड़ा है। इसके चलते राष्ट्रीय राजमार्ग 48 और तुलसी नदी पर बने कम से कम तीन कॉजवे पर पानी भर गया है। वलसाड में रेलवे स्टेशन परिसर में जलभराव हुआ है। वापी शहर में बिल खाड़ी के ओवरफ्लो होने से भी कई स्थानों पर जलभराव हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।