नक्सली नेता की गिरफ्तारी के विरोध में नक्सलियों ने रेल पटरी को बम से उड़ाया, इलाके में सर्च-ऑपरेशन जारी

झारखंड राज्य के लातेहार में नक्सलीयों द्वारा रेल पटरियों को बम से उड़ाने का मामला सामने आया है।

झारखंड राज्य के लातेहार में नक्सलीयों द्वारा रेल पटरियों को बम से उड़ाने का मामला सामने आया है। दरअसल नक्सलियों ने भाकपा माओवादी नक्सली संगठन के शीर्ष नेता प्रशांत बोस और उनकी पत्नी शीला मरांडी की गिरफ्तारी के विरोध में शुक्रवार को भारत बंद का ऐलान किया था। इसी दौरान उन्होंने रेल पटरी को बम से उड़ा दिया। इस वजह से इस वजह से रेलवे की एक ट्रॉली डिरेल हो गई है लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ है। हालांकि इस रेल मार्ग पर अप-डाउन रेल यातायात बाधित हो गया है।
नक्सलियों के खिलाफ चलाया जा रहा सर्चऑपरेशन 
धनबाद रेल मंडल के पीआरओ पीके मिश्रा ने बताया कि, बीती रात करीब 12:50 बजे टोरी व लातेहार रेलखंड के रिचुघुटा डेमू स्टेशन के बीच किलोमीटर पोल संख्या 206/ 25-27 के बीच अप एंड डाउन लाइन पर माओवादियों ने बम ब्लास्ट कर रेल पटरी को उड़ाया है। घटना के बाद डीजल लाइट इंजन संख्या 70584 की एक ट्रॉली डिरेल हो गई है। धनबाद रेल मंडल ने बरकाकाना एवं बरवाडीह से दुर्घटना राहत यान मंगाई गई है। धनबाद रेल मंडल के वरीय रेल अधिकारी बीती रात से ही घटनास्थल पर कैंप कर रहे हैं। घटना के बाद से ही आरपीएफ,जीआरपी के साथ स्थानीय पुलिस हाई अलर्ट पर है। इधर देश के विरुद्ध आतंकी गतिविधि में शामिल नक्सलियों के खिलाफ सर्चऑपरेशन व कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया जा रहा है।
अन्य राज्यों को रखा गया है हाई अलर्ट पर 
नक्सलियों की इस घटना के बाद से अन्य राज्य झारखंड, छत्तीसगढ़, उड़ीसा और बंगाल में पुलिस एवं अर्धसैनिक बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। हाईवे और रेल मार्गों पर विशेष नजर रखी जा रही है। बता दें कि, बीते 12 नवंबर को झारखंड पुलिस ने भाकपा माओवादी संगठन के शीर्ष नेता प्रशांत बोस और उनकी पत्नी शीला मरांडी सहित छह नक्सलियों को जमशेदपुर के पास कांड्राटोल ब्रिज से गिरफ्तार किया था। पुलिस इन नक्सलियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − seven =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।