अग्निपथ योजना पर बोले लेफ्टिनेंट जनरल गुरुबीरपाल सिंह, NCC कैडेट्स को मिलेंगे बोनस अंक

अग्निपथ योजना के बारे में एनसीसी (राष्ट्रीय कैडेट कोर) के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल गुरुबीरपाल सिंह ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय सेना की इस योजना में भर्ती होने वाले एनसीसी कैडेट्स को बोनस अंक दिए जाएंगे।

अग्निपथ योजना के बारे में एनसीसी (राष्ट्रीय कैडेट कोर) के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल गुरुबीरपाल सिंह ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय सेना की इस योजना में भर्ती होने वाले एनसीसी कैडेट्स को बोनस अंक दिए जाएंगे। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि एनसीसी के अधिकारी कैडेट्स के बीच जाकर भारतीय सेना की इस योजना को समझाएंगे, जिससे ज्यादा से ज्यादा युवा भारतीय सेना के साथ जुड़ सकें। सिंह ने ग्वालियर में एनसीसी महिला अधिकारियों की दीक्षांत परेड में हिस्सा लेने आए थे। दीक्षांत परेड के बाद लेफ्टीनेंट जनरल सिंह ने मीडियाकर्मियों से कहा, एनसीसी में महिला कैडेट्स 1950 से ही शामिल हैं और इन्होंने शानदार काम किया है।
देश के हर जिले में हैं एनसीसी
हाल में भारतीय सेना ने अग्निपथ योजना के जरिए सेना भर्ती प्रक्रिया शुरू की है। अब इस बारे में और ज्यादा जानकारी देने का काम एनसीसी अधिकारी करेंगे और एनसीसी कैडेट्स को इस योजना के बारे में समझाएंगे। उन्होंने कहा, एनसीसी कैडेट्स जो ए, बी एवं सी प्रमाणपत्र धारक हैं, उन्हें अग्निवीर की भर्ती में बोनस अंक मिलेंगे। सिंह ने कहा कि, इस समय देश के हर जिले में एनसीसी है और ज्यादातर युवा ग्रामीण क्षेत्रों से एनसीसी में आते हैं। ऐसे युवा अग्निवीर बनकर भारतीय सेना में सेवा तो करेंगे ही, साथ में जब चार वर्ष बाद समाज में वापस जाएंगे, तो बेहतर नागरिक बन सकेंगे और शेष भारतीय सेना में काम करेंगे।

1656060741 ncc

112 महिलाओं को बनाया गया है अधिकारी
यह पूछे जाने पर कि क्या स्कूल-कॉलेजों में एनसीसी को अनिवार्य किया जा रहा है, इस पर उन्होंने कहा, एनसीसी में और क्या सुधार हो सकते हैं या इसकी अनिवार्यता के बारे में उच्च स्तरीय अधिकार समिति बनाई गई है, जिसकी रिपोर्ट अभी आनी है। इससे पहले, ग्वालियर स्थित एनसीसी महिला अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी में सिंह ने महिला अधिकारियों की दीक्षांत परेड की सलामी ली। देश के विभिन्न राज्यों से आई 112 महिला अधिकारियों को अकादमी में तीन महीने का प्रशिक्षण देकर अधिकारी बनाया गया है। इस मौके पर सिंह ने महिला अधिकारियों से कहा कि, उनके ऊपर युवाओं को बेहतर नागरिक बनाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है और उम्मीद है कि वे इस काम को बखूबी से कर सकेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + eleven =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।