Search
Close this search box.

MP के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा- मदरसों में पढ़ाई जाने वाली आपत्तिजनक सामग्री की होगी जांच

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने रविवार को कहा कि राज्य के कुछ मदरसों में पढ़ाई जा रही कथित आपत्तिजनक सामग्री की जांच की जाएगी।

मदरसों में हो रही आपत्तिजनक शिक्षा को लकेर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने रविवार को औपचारिक रूप से कहा कि राज्य में मदरसों में शिक्षा सामग्री की व्यापक तौर से जांच कराई जाएगी। राज्य सरकार के प्रवक्ता मिश्रा ने एक सवाल के जवाब में संवाददाताओं से कहा कि कुछ मदरसों में आपत्तिजनक सामग्री पढ़ाए जाने का मामला उनके संज्ञान में लाया गया है।
Home Minister Narottam Mishra strict message on Khargone violence on  ramnavmi mpdt | खरगोन हिंसा पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा सख्त, कहा जिस घर से  पत्थर आए, उन्हें पत्थर का ढेर बना ...
मिश्रा ने कहा, ‘‘मैंने भी उसको (आपत्तिजनक सामग्री को) प्रथम दृष्टया सरसरी निगाह से देखा है। इस तरह की किसी भी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए, हम मदरसों की जो पठन सामग्री है, उसे जिलाधिकारियों से कहकर संबंधित शिक्षा विभाग से इसकी जांच कराने तथा पठन सामग्री व्यवस्थित रहे यह व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहेंगे।’’ हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि वह किन मदरसों की बात कर रहे हैं। कुछ वर्गों ने राज्य के कुछ स्थानों पर मदरसों में पढ़ाए जाने वाले कुछ विषयों पर सवालिया निशान खड़े किए हैं।
Narottam mishra said will ban urdu farsi word in police department like up  ngmp | सरकारी कामकाज में नहीं होगा उर्दू, फारसी का इस्तेमाल! गृहमंत्री नरोत्तम  मिश्रा का बड़ा बयान | Hindi
जानकारी के मुताबिक इस साल अगस्त में राज्य की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने कहा था कि अवैध रुप से संचालित मदरसों का मानव तस्करी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है और ऐसी जगहों की जांच की जानी चाहिए। ठाकुर ने आरोप लगाया था, ‘‘बाल आयोग के पदाधिकारियों ने हाल में ऐसे अवैध रुप से संचालित मदरसों का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने पाया कि 30-40 बच्चों को स्वस्थ वातावरण के बिना रखा गया। वहां भोजन की अपर्याप्त व्यवस्था थी। मुझे डर है कि यह मानव तस्करी का मामला हो सकता है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen + thirteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।