Search
Close this search box.

ऑक्सीजन उत्पादन में आत्मनिर्भर बनेगा MP, सीएम शिवराज ने कहा- 190 में से 88 संयंत्र चालू

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य में प्रति मिनट 45,000 लीटर से अधिक ऑक्सीजन उत्पन्न करने की क्षमता वाले 88 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र चालू हो गए हैं।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य में प्रति मिनट 45,000 लीटर से अधिक ऑक्सीजन उत्पन्न करने की क्षमता वाले 88 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र चालू हो गए हैं। चौहान ने मंगलवार देर शाम एक आधिकारिक बयान में कहा कि इस महीने के अंत तक कुल 190 ऑक्सीजन संयंत्र चालू हो जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे में देखी गई कमियों को प्राथमिकता के आधार पर दूर किया जा रहा है और इन कमियों में सबसे अहम मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मंगलवार तक मध्य प्रदेश में प्रस्तावित 190 में से 88 ऑक्सीजन संयंत्र चालू हो गए हैं। इन 88 संयंत्रों की उत्पादन क्षमता 45,890 लीटर प्रति मिनट है।’’
चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में ऑक्सीजन उत्पादन शुरु होने से अब दूसरे राज्यों से जीवन रक्षक गैस लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य तहसील स्तर और सभी जिला मुख्यालयों पर ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करना है और इसके अलावा जिन जगहों पर ऑक्सीजन संयंत्र नहीं लगे हैं, वहां ऑक्सीजन सांद्रक लगाए गए हैं। 
प्रदेश में कुल 52 जिले हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश में प्रस्तावित 190 ऑक्सीजन संयंत्र में से 102 संयंत्र केंद्र सरकार के सहयोग से स्थापित किए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार मंगलवार को मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 11 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − 12 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।