Search
Close this search box.

शिमला में बोले PM मोदी-देश में दशकों तक हुई वोटबैंक की राजनीति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केंद्र सरकार के आठ साल पूरे होने के मौके पर हिमाचल प्रदेश के शिमला में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केंद्र सरकार के आठ साल पूरे होने के मौके पर हिमाचल प्रदेश के शिमला में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। प्रधानमंत्री मोदी ने यहां एक रोड शो किया। इस दौरान स्थानीय लोगों ने फूलों की वर्षा से प्रधानमंत्री का ज़ोरदार स्वागत किया। शिमला के रिज के मैदान में प्रधानमंत्री मोदी ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से बात की। 
.मैं सिर्फ 130 करोड़ लोगों का प्रधान सेवक…
प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज मेरे जीवन में एक विशेष दिवस भी है और उस विशेष दिवस पर इस देवभूमि को प्रणाम करने का मौका मिले इससे बड़ा सौभाग्य क्या हो सकता है। खुशी के पल अगर हिमाचल में आकर बिताने को मिलें तो इससे बेहतर कुछ नहीं है। शिमला की धरती मेरी कर्मभूमि रही है। ये मेरे लिए देवभूमि है।
प्रधानमंत्री ने कहा, मैं जो कुछ भी कर रहा हूं ये सब आपकी वजह से ही संभव है। जब फाइल पर साइन करता हूं तब तो जिम्मेदारी होती है, लेकिन जब फाइल चली जाती है तो आपके परिवार का सदस्य बन जाता हूं…मैं सिर्फ 130 करोड़ लोगों का प्रधान सेवक हूं जो मेरे जीवन और मेरे जीवन में सबकुछ हैं। 
उन्होंने कहा कि पहले ‘अटकी-लटकी-भटकी’ योजनाओं, भाई-भतीजावाद, घोटालों के बारे में बात की जाती थी लेकिन आज बात सरकारी योजनाओं से लाभ के बारे में है … आज भारत के स्टार्ट-अप के बारे में विश्व स्तर पर बात की जा रही है। यहां तक कि विश्व बैंक भी भारत के Ease of Doing Business की बात करता है..।
…मदद करने के लिए हाथ बढ़ाता है भारत 
प्रधानमंत्री ने कहा, पहले योजनाओं का पैस जरूरतमंद तक पहुंचने से पहले लुट जाता था। लेकिन अब ऐसा नहीं है। पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत मजबूरी में नहीं मदद करने के लिए हाथ बढ़ाता है। हमारे देश में दशकों तक वोटबैंक की राजनीति हुई है। अपना-अपना वोटबैंक बनाने की राजनीति ने देश का बहुत नुकसान किया है। हम वोटबैंक बनाने के लिए नहीं, नए भारत को बनाने के लिए काम कर रहे हैं।
उन्होंने कहा, हमें 21वीं सदी के बुलंद भारत के लिए, आने वाली पीढ़ियों के उज्ज्वल भविष्य के लिए काम करना है। एक ऐसा भारत जिसकी पहचान अभाव नहीं बल्कि आधुनिकता हो। हमने शत प्रतिशत लाभ, शत प्रतिशत लाभार्थी तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है, लाभार्थियों के सैचुरेशन का प्रण लिया है। शत प्रतिशत सशक्तिकरण यानि भेदभाव खत्म, सिफारिशें खत्म, तुष्टिकरण खत्म। शत प्रतिशत सशक्तिकरण यानि हर गरीब को सरकारी योजनाओं का पूरा लाभ।
पीएम मोदी ने कहा, अभी देश के करोड़ों किसानों के खातों में पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा ट्रांसफर हो गया। पैसा उनको मिल भी गया और आज मुझे शिमला की धरती से देश के 10 करोड़ से भी ज्यादा किसानों के खातों में पैसे पहुंचाने का सौभाग्य मिला है। 
उन्होंने कहा, मेरा संकल्प है कि हर भारतवासी के सम्मान के लिए, हर भारतवासी की सुरक्षा, हर भारतवासी की समृद्धि के लिए, भारतवासी को सुख-शांति की जिंदगी कैसे मिले, हर किसी का कल्याण करने के लिए जितना काम कर सकूँ, उसको करता रहूं। फिर पेंशन योजनाएं, टेक्नोलॉजी की मदद से हमने भ्रष्टाचार की गुंजाइश को कम से कम कर दिया है। जिन समस्याओं को पहले स्थाई मान लिया गया था, हम उसके स्थाई समाधान देने का प्रयास कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + three =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।