पुडुचेरी विधानसभा ने लेखानुदान पारित किया, बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

अन्नाद्रमुक और भाजपा के सदस्यों ने आसन के पास आकर नारेबाजी की और आरोप लगाया कि सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए अच्छी तरह प्रयास नहीं किये हैं।

पुडुचेरी : पुडुचेरी विधानसभा ने सोमवार को एक संक्षिप्त सत्र में लेखानुदान पारित कर दिया ताकि कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन के बीच अगले वित्त वर्ष के पहले तीन महीने के खर्च पूरे किये जा सकें। वित्त मंत्रालय का प्रभार भी संभाल रहे मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने विधेयक पेश किया जिसे ध्वनिमत से पारित कर दिया गया और इसके बाद सदन की बैठक को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया।
वित्त वर्ष 2020-21 के पहले तीन महीने-अप्रैल से जून के दौरान सरकारी विभागों की जरूरतों को पूरा करने के लिए 2042 करोड़ रुपये निर्धारित किये गये हैं। सभी मंत्रियों और विधानसभा अध्यक्ष वी पी शिवकोलुंधू ने कोरोना वायरस के बीच मास्क पहनकर कार्यवाही में भाग लिया। इससे पहले मुख्यमंत्री ने उनके चैंबर में मौजूद सभी लोगों के हाथ सैनेटाइजर से स्वच्छ कराए।
अन्नाद्रमुक और भाजपा के सदस्यों ने आसन के पास आकर नारेबाजी की और आरोप लगाया कि सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए अच्छी तरह प्रयास नहीं किये हैं। एआईएनआरसी के सदस्यों ने कार्यवाही में भाग नहीं लिया और पार्टी के सातों सदस्य घर पर ही रहे। सदन ने दुनियाभर में कोरोना वायरस के कारण जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि भी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + 9 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।