Search
Close this search box.

मुझे भी मिला था ऑफर, लेकिन मैं हूं एक सच्चा शिवसैनिक : संजय राउत

संजय राउत ने मुंबई में बोलते हुए कहा कि मुझे भी गुवाहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था लेकिन मैं बालासाहेब ठाकरे का अनुसरण करता हूं इसलिए मैं वहां नहीं गया।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने दावा किया कि उन्हें भी गुवहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था। शिवसेना नेता ने शनिवार को मुंबई में बोलते हुए कहा कि मुझे भी गुवाहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था लेकिन मैं बालासाहेब ठाकरे का अनुसरण करता हूं इसलिए मैं वहां नहीं गया। वहीं मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के फ्लोर टेस्ट जीतने के दावे पर राउत ने कहा, जब सच्चाई आपके पक्ष में है, तो डर क्यों है?
समस्या समय के साथ 
पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में हुई पूछताछ पर संजय राउत ने कहा, एक जिम्मेदार नागरिक और सांसद के तौर पर अगर कोई जांच एजेंसी (ईडी) मुझे समन करती है तो पेश होना मेरा कर्तव्य है। समस्या समय के साथ है- महाराष्ट्र राजनीतिक संकट के बीच लेकिन उन्हें संदेह था। उनके अधिकारियों ने मेरे साथ अच्छा व्यवहार किया मैंने उनसे कहा कि जरूरत पड़ने पर मैं फिर आ सकता हूं।
10 घंटे तक ED के सवालों का जवाब देते रहे राउत
दरअसल,  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को संजय राउत से लगभग 10 घंटे तक पूछताछ की। राउत कल सुबह करीब साढ़े 11 बजे दक्षिण मुंबई में बलार्ड एस्टेट स्थित ईडी कार्यालय पहुंचे। उन्हें रात करीब 10 बजे वहां से बाहर निकलते देखा गया। शिवसेना सांसद के ईडी कार्यालय पहुंचने पर उन्हें गले में भगवा मफलर पहने हुए देखा गया।
जांच एजेंसी ने संजय राउत को 28 जून को तलब किया था। हालांकि, राउत ने ईडी के समन को उन्हें पार्टी के विधायकों की बगावत के मद्देनजर राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों से लड़ने से रोकने की ‘‘साजिश’’ बताया था और कहा था कि वह मंगलवार को एजेंसी के समक्ष पेश नहीं हो पाएंगे क्योंकि उन्हें अलीबाग में एक बैठक में भाग लेना है। इसके बाद ईडी ने नया समन जारी करते हुए उन्हें शुक्रवार को पेश होने के लिए कहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven + twelve =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।